योगी आदित्यनाथ सरकार के तीन साल पूरे, ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा ‘काम दमदार योगी सरकार’

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के तीन साल पूरे होने पर बुधवार को ट्विटर पर ‘काम दमदार योगी सरकार’ ट्रेंड कर रहा है।

Written by: March 18, 2020 5:56 pm

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के तीन साल पूरे होने पर बुधवार को ट्विटर पर ‘काम दमदार योगी सरकार’ ट्रेंड कर रहा है। ‘हैश टैग काम दमदार योगी सरकार’ के साथ यूजर्स विभिन्न टिप्पणी करते हुए कई तरीके से अपनी बात रख रहे हैं। खास बात यह है कि भाजपा के आलोचकों ने भी ‘काम बेकार ढोंगी सरकार’ ट्रेंड कराने की कोशिश की है।

CM Yogi Adityanath

यूजर्स योगी आदित्यनाथ सरकार की तीन वर्षों की उपलब्धियों को लेकर उनकी सराहना करते हुए नजर आए हैं। ट्विटर पर बुधवार सुबह से ही हैश टैग ‘काम दमदार योगी सरकार’ ट्रेंड कर रहा है। यूजर्स लगातार योगी सरकार की उपलब्धियों को इस हैश टैग के साथ ट्वीट और रिट्वीट कर रहे हैं।

Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath

ट्विटर यूजर्स अपने-अपने तरीके से योगी सरकार की तारीफ करते नजर आ रहे हैं। कोई कानून व्यवस्था को लेकर अपनी बात कर रहा तो किसी को निर्बाध बिजली मुहैया करने वाली सरकार की मुहिम भा रही है। कई लोगों ने सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से वसूली और उनके पोस्टर लगाने को लेकर योगी सरकार की जमकर प्रंशसा की है।

cm yogi adityanath

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “प्यारे प्रदेशवासियों! आप सब को आपकी सरकार की तीसरी वर्षगांठ पर शुभकामनाएं। जय हिंद, जय उत्तर प्रदेश।”


ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बुधवार को तीन साल पूरे होने पर अपने र्पिोट कार्ड का विस्तृत ब्यौरा भी दिया है।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश में पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने तीन साल का कार्यकाल पूरा किया है। योगी से पहले भाजपा के कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह और राम प्रकाश गुप्ता भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। कल्याण सिंह दो बार, राम प्रकाश गुप्ता और राजनाथ सिंह एक-एक बार प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं, मगर इन सभी का कार्यकाल कभी लंबा नहीं चल पाया। भाजपा राज्य में 2017 में प्रचंड बहुमत के साथ आई थी और 19 मार्च 2017 को योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।