Connect with us

देश

यूपी ATS के हाथ लगी एक और कामयाबी, आतंकी नदीम की निशानदेही पर हत्थे चढ़ा उसका साथी सैफुल्लाह, पाक से हैं रिश्ते

माना जा रहा है कि दोनों से उपरोक्त प्रकरण के संदर्भ में विस्तृत पूछताछ की जाएगी। नदीम मूल रूप से बिहार का रहने वाला है।  एटीएस के मुताबिक,  वह कथित रूप से कई आतंकी गतिविधियों में संलिप्त रह चुका है। फिलहाल, उससे  पूछताछ का सिलसिला जारी है।

Published

on

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य में जड़े जमाए बैठे आतंकवादी तत्वों का समूल नाश करने की दिशा में सक्रिय हो चुके हैं। राज्य की योगी सरकार का आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति ने आतंकी तत्वों की नींद उड़ा दी है। राज्य सरकार की तरफ से आतंकवादियों के गढ़ों को दहलाने की कोशिश जारी है। अब इसी बीच यूपी एटीएस ने कानपुर से एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया है। बात दें कि एडीजी नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में सहारनपुर से आतंकवादी नदीम के साथी को गिरफ्तार किया गया है। उसे नदीम की निशानदेही पर गिरफ्त में लिया गया है। बता दें कि नदीम को मेरठ से गिरफ्तार किया गया था। एटीएस ने नदीम के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि वो कई पाकिस्तानी और अफगानिस्तानी आतंकवादियों का आईडी कार्ड बनाने में संलिप्त रहा है।Uttar Pradesh ATS की ताज़ा खबरे हिन्दी में | ब्रेकिंग और लेटेस्ट न्यूज़ in  Hindi - Zee News Hindi

उधर, पुलिस की गिरफ्त मेंं आए नदीम के साथी हबीब उल इस्लाम उर्फ सैफुल्लाह को फतेहपुर से कानपुर लाया गया है। माना जा रहा है कि दोनों से उपरोक्त प्रकरण के संदर्भ में विस्तृत पूछताछ की जाएगी। नदीम मूल रूप से बिहार का रहने वाला है। एटीएस के मुताबिक,  वह कथित रूप से कई आतंकी गतिविधियों में संलिप्त रह चुका है। फिलहाल, उससे  पूछताछ का सिलसिला जारी है। माना जा रहा है कि आगामी दिनों में एटीएस उससे उपरोक्त प्रकरण के संदर्भ में विस्तृत पूछताछ करने के उपरांत कई सच उगलवाएगी। हालांकि, उक्त कार्रवाई से यूपी एटीएस ने एक बात साफ कर दी है कि आतंकवाद के खिलाफ योगी सरकार जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रही है और आतंकवादी तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की दिशा में योगी सरकार कृत संकल्पित थी और हमेशा रहेगी।

स्वतंत्रता दिवस से पहले गिरफ्तारी, मायने अहम हैं

बता दें कि स्वतंत्रता दिवस से पूर्व नदीम की गिरफ्तारी कई अहम सवाल खड़े कर रही हैं,  जिस तरह से प्रदेश सरकार की तरफ से स्वतंत्रता दिवस से ठीक पूर्व आतंकवादी तत्वों के खिलाफ योगी सरकार का डंडा जारी है, उससे एक बात  जाहिर है कि यह तत्व स्वतंत्रता दिवस से पूर्व किसी बड़ी  वारदात को अंजाम देने की जुगत में जुटे हुए थे, लेकिन वक्त रहते ही सरकार की तरफ से इनकी कमर तोड़ दी गई। बहरहाल , बतौर पाठक आपका उपरोक्त प्रकरण पर क्या कुछ कहना है। आप  हमें कमेंट कर बताना बिल्कुल भी मत भूलिएगा।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement