कोरोना से बचाव के लिए फेस मास्क जरूरी पर इन कामों को करते वक्त बनाएं दूरी, नहीं तो हो सकता है जानलेवा!

फेस मास्क अब पूरे देश ही नहीं पूरी दुनिया के लोगों के चेहरे पर दिखनी लगी है। कारण साफ है कोरोना के कहर से पूरी दुनिया त्रस्त है अपने को सुरक्षित रखने के लिए अब आदमी को हर वक्त मास्क पहनना अनिवार्य हो गया है।

Written by: May 22, 2020 12:33 pm

नई दिल्ली। फेस मास्क अब पूरे देश ही नहीं पूरी दुनिया के लोगों के चेहरे पर दिखनी लगी है। कारण साफ है कोरोना के कहर से पूरी दुनिया त्रस्त है अपने को सुरक्षित रखने के लिए अब आदमी को हर वक्त मास्क पहनना अनिवार्य हो गया है। लेकिन आपको पता है कि व्यायाम करते वक्त या सुबह जॉगिंग करते वक्त मास्क लगाना, या फिर गाड़ी की ड्राइविंग करते वक्त लंबे समय तक मास्क का इस्तेमाल करना कितना खतरनाक हो सकता है। इसके बारे में अभी तक ज्यादा किसी ने नहीं सोचा। लेकिन हाल के दिनों में कुछ ऐसी घटनाएं घटी हैं जिसके बाद से लोगों के लिए इस आपदा काल में ऐसे काम करते समय मास्क लगाना भी मुसीबत बन गई है।

pollution mask

इसके साथ ही क्या आपको पता लगातार ज्यादा देर तक मास्क पहनने की वजह से शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा ब्लड में बढ़ जाती है। इस पर विशेषज्ञों का कहना है कि कई मामलों में लंबे वक्त तक मास्क का इस्तेमाल खतरनाक हो सकता है। स्वास्थ्य संस्थान के मुताबिक कार्बन डाइऑक्साइड के हाई लेवल पर सांस लेना जानलेवा हो सकता है। कार्बन डाइऑक्साइड में मौजूद हाइपरकेनिया के कारण सिरदर्द, चक्कर, देखने में परेशानी, फोकस करने में दिक्कत, कान में आवाज आना दौरा पड़ने जैसी समस्या हो सकती है।

चीन में 4 किलोमीटर मास्क पहनकर दौड़ा यह आदमी फिर जानिए उसके साथ क्या हुआ?

चीन में मास्क पहने 26 वर्षीय झांग पिंग को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसने चार किलोमीटर दौड़ लगाई थी जिसके बाद सांस लेने में परेशानी हुई। डॉक्टरों ने कहा कि उसका बायां फेफड़ा 90 फीसदी सिकुड़ कर क्षतिग्रस्त हो गया। डॉक्टरों ने बताया कि फेफड़े में उच्च दबाव के कारण ऐसा होता है। युवक ने मास्क पहन गलत तरीके से व्यायाम किया था।

Excercise with Face Mask

इससे पहले भी एक 14 साल के लड़के की मास्क पहनकर दौड़ लगाने से कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई थी। डॉक्टर्स ने बताया कि मास्क पहनकर दौड़ने की वजह शख्स के बाएं फेफड़े में छेद हो गया। जिससे फेफड़े से हवा निकलने लगी थी। इसी प्रेशर का असर दिल पर पड़ा और वह बाएं से दाएं खिसकने लगा।

क्यों होती है ज्यादा देर तक मास्क पहनने से परेशानी

N95 Mask

आमतौर पर वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा 0.04 फीसदी होती है लेकिन यदि यही मात्रा 10 फीसदी या इससे अधिक हो जाए तो जानलेवा हो सकती है। जब आप कोई मास्क पहनते हैं तो सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया चलती रहती है। इस दौरान मास्क की वजह से ऑक्सीजन का प्रवाह कम रहता है और कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है। क्योंकि जो सांस आप छोड़ते हैं तो वो मास्क में ही कुछ देर रहती है। ऐसे में आप छोड़े हुए सांस यानी कार्बन डाइऑक्साइड को ही ऑक्सीजन के साथ ले रहे होते हैं। सीओ2 रक्त के pH को नियंत्रित करता है। अधिक सीओ2 के कारण रक्त बहुत अम्लीय हो जाता है। जैसे-जैसे रक्त अम्लीय होता जाता है तो शरीर ऑक्सीजन की मांग करता है और नहीं मिलने की स्थिति में दौरे जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

विशेषज्ञ बताते हैं कैसे करें मास्क का इस्तेमाल

Excercise with Face Mask

एन95 मास्क हेल्थ केयर वर्कर्स के लिए जरूरी है, लेकिन अगर आप इसका इस्तेमाल कर रहे हैं तो लंबे समय तक ना पहनें। दौड़ते समय या तेजी से टहलते समय एन95 मास्क को उतार दें। मास्क के बिना घर से न निकलें लेकिन जरूरत से ज्यादा टाइट मास्क ना पहनें। वैसे घर पर बने मास्क ज्यादा बेहतर हैं, क्योंकि इनके साथ सांस लेने में तकलीफ नहीं होती।

अगर मास्क पहनकर कर रहे हैं एक्सरसाइज या वॉक तो हो सकती है ये परेशानियां

क्लाउस्ट्रोफोबिया

Excercise with Face Mask

क्लाउस्ट्रोफोबिया सबसे आम फोबिया में से एक है। क्लेस्ट्रोफोबिया एक स्थितिजन्य फोबिया है, जो तंग या भीड़ भरे स्थानों पर बेचैनी के कारण भय से उत्पन्न होता है। यह कमरे में बंद होने, भीड़भाड़ वाले लिफ्ट में फंस जाने या भीड़भाड़ वाले राजमार्ग पर गाड़ी चलाने जैसी चीजों से शुरू हो सकता है। वहीं जब आप व्यायाम करते समय भारी सांस लेते हैं, तो आपके क्लॉस्ट्रोफोबिक होने की उच्च संभावना है क्योंकि आपके मास्क द्वारा शरीर में हवा की कमी हो रही होती है। इस तरह ऑक्सीजन की कमी के कारण आपको बेचैनी हो सकती है और आप क्लाउस्ट्रोफोबिया के शिकार हो सकते हैं।

स्टैमिना की कमी और थकान

जब आप व्यायाम करते हैं तो स्टैमिना ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ा देता है। अगर आप मास्क पहन रहे हैं, तो निश्चित रूप से, आपका स्टैमिना धीरे-धीरे कम होने लगता है। ऐसे में जब आप शरीर की मांग के हिसाब से ऑक्सीजन नहीं ले रहे होते हैं, तो आपको बहुत थकान महसूस होने लगती है और आपका स्टेमिना खत्म होने लगता है। इस तरह

मतली और वोमिटिंग होना

Excercise with Face Mask

ऑक्सीजन और सांस की कमी से आपको वर्कआउट के दौरान मतली और चक्कर आना भी महसूस हो सकता है। वहीं कुछ लोगों में ये वोमिटिंग का भी बड़ा कारण बन सकता है।

अत्यधिक पसीना और डिहाइड्रेशन

जब आप हवा को फिर से सांस लेते हैं तो आप इसे अपने हृदय गति को तेज करते हैं जिसके कारण आपको बहुत पसीना आता है। परिणामस्वरूप, उच्च संभावना है कि आपके शरीर में डिहाइड्रेशन हो जाए।

बेहोशी और चिड़चिड़ापन

जब आप अपने मास्क के साथ व्यायाम करते हैं तो आप अपने शरीर में कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर को बढ़ा रहे होते हैं, जिसके कारण आप बेहोश भी हो सकते हैं। वहीं इस तरह की एक्सरसाइज करने से आपको फ्रेशनेस महसूस नहीं होगी, बल्कि आपको दिन भर चिड़चिड़ापन महसूस हो सकता है।