क्या सच में प्रेग्नेंट वूमेन के लिए है खतरा मोबाइल फोन का रेडिएशन, जानें यहां

कई अध्ययनों ने यह साबित किया है कि एडवांस टेक्नोलॉजी (Advanced technology) दुनिया भर के गर्भवती महिलाओं (Pregnant women) के लिए खतरा (Danger) पैदा कर सकती है।

Avatar Written by: August 23, 2020 2:38 pm

नई दिल्ली। कई अध्ययनों ने यह साबित किया है कि एडवांस टेक्नोलॉजी (Advanced technology) दुनिया भर के गर्भवती महिलाओं (Pregnant women) के लिए खतरा पैदा कर सकती है। हालांकि सब जानते हैं कि एक्स-रे विकिरण (X-ray radiation) उनके स्वास्थ्य और शिशु के लिए बेहद खतरनाक हैं, लेकिन वे इस तथ्य से अनजान हैं कि स्मार्टफोन रेडिएशन (Smartphone radiation) के संपर्क में आने से मिसकैरिज (Misscarriage) का खतरा दोगुना हो जाता है।

ये रेडिएशन कई विद्युत उपकरणों जैसे बिजली लाइनों और ट्रांसफार्मर, वायरलेस डिवाइस और वायरलेस नेटवर्क के कारण हो सकते हैं। आयोनाइजिंग रेडिएशन से कई बीमारियों का खतरा रहता है जैसे, कैंसर, जेनेटिक समस्याएं आदि। वैज्ञानिकों ने अपने रिसर्च में पाया कि जिन महिलाओं का संबंध मैग्नेटिक फील्ड में अधिक था उनमें मिसकैरिज का खतरा 2.75 गुना अधिक था, उनके मुकाबले जो इनसे दूर थीं।

Pregnant woman

रेडिएशन से हमारे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान थोड़ा ध्यान रखना चाहिए। जब फोन का इस्तेमाल न कर रहे हों तो इसे अपने आप से दूर रखें। फोन को हमेशा अपने पॉकेट में न रखें। रात में सोते समय तकिए के नीचे फोन बंद करने के बाद ही रखें। फोन का रेडिएशन आपके होने वाले बच्चे पर भी असर कर सकता है

Support Newsroompost
Support Newsroompost