IIFL होम फाइनेंस ने Rs 5,000 cr का NCD फंड जुटाने के लिए ड्राफ्ट शेल्फ प्रॉस्पेक्टस फाइल किया

खुदरा कारोबार पर ध्यान केंद्रित करने वाली और टेक्नोलॉजी का लाभ उठाने वाली हाउसिंग फाइनेंस कंपनी, IIFL होम फाइनेंस लिमिटेड (“IIFLHFL”) ने ‘सिक्योर्ड रिडीमेबल नन-कन्वर्टिबल डिबेंचर्स’ (“सिक्योर्ड NCDs”) और / या ‘अनसिक्योर्ड सबोर्डिनेट रिडीमेबल नन-कन्वर्टिबल डिबेंचर्स’ (“अनसिक्योर्ड NCDs”) (सिक्योर्ड एवं अनसिक्योर्ड NCDs को सम्मिलित रूप से “NCDs” कहा गया है) के सार्वजनिक निर्गम के लिए BSE लिमिटेड तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (“स्टॉक एक्सचेंज”) के समक्ष ड्राफ्ट शेल्फ प्रॉस्पेक्टस दायर किया है, जिसका कुल योग Rs.50,000 मिलियन है।

Avatar Written by: June 24, 2021 3:08 pm
iifl2

नई दिल्लप्रत्येक सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड NCD का अंकित मूल्य Rs. 1000 होगा, तथा प्रत्येक को एक या अधिक श्रृंखलाओं में जारी किया जाएगा। NCD के निर्गम का उद्देश्य सामान्य कॉर्पोरेट जरूरतों को पूरा करने के अलावा, आगे उधार देना एवं वित्तपोषण करना तथा कंपनी के मौजूदा ऋण के ब्याज एवं मूलधन की चुकौती/पूर्व-भुगतान करना है। 31 मार्च, 2021 तक, नए स्वरूप में तैयार किए गए वित्तीय विवरणों के अनुसार कंपनियों की CRAR – टियर 1 पूंजी 19.61% थी।

प्रस्तावित NCDs को क्रिसिल रेटिंग्स लिमिटेड द्वारा क्रिसिल AA/ स्टेबल, तथा ब्रिकवर्क रेटिंग्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा BWR AA+/नेगेटिव (असाइन) की क्रेडिट रेटिंग दी गई है। IIFLHFL मुख्यतः टियर 1, टियर 2 और टियर 3 शहरों के उपनगरीय इलाकों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और निम्न आय वर्ग में पहली बार घर खरीदारों को ऋण प्रदान करने पर विशेष ध्यान केंद्रित करता है। 31 मार्च, 2021 तक के आंकड़ों के अनुसार, इसके Rs. 206,936.87 मिलियन के AUM में वेतनभोगी और स्व-रोजगार करने वाले ग्राहकों की हिस्सेदारी 44.37% और 55.63% है, तथा पिछले 5 वित्तीय-वर्षों के दौरान इसमें 20.64% की CAGR से बढ़ोतरी हुई है। इसके होम लोन का औसत टिकट साइज लगभग Rs.1.73 मिलियन है।

iifl2
IIFL समूह के 2300 से ज्यादा टच पॉइंट्स तक पहुंच के अलावा, कंपनी वर्तमान में देशभर के 16 राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश में अपनी 125 शाखाओं से कारोबार का संचालन करती है। पिछले वित्त-वर्ष 2021 के दौरान, इसके 85.16% हाउसिंग लोन डिजिटल माध्यमों से प्राप्त किए गए हैं। कंपनी ने टेक्नोलॉजी में निवेश किया है, जिसने ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाने के साथ-साथ परिचालन लागत को कम करने और नए व्यावसायिक अवसरों के विकास में भी मदद की है।

31 मार्च, 2021 तक के आंकड़ों के अनुसार, IIFL होम फाइनेंस ने PMAY-CLSS योजना के तहत 43,000 से अधिक ग्राहकों को Rs.10 bn से ज्यादा की सब्सिडी के साथ उन्हें सशक्त बनाने में मदद की है।
इस निर्गम के लिए एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड, IIFL सिक्योरिटीज लिमिटेड*, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड, ट्रस्ट इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स प्राइवेट लिमिटेड और इक्विरस कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड को लीड मैनेजर्स नियुक्त किया गया है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost