टी-20 विश्व कप पर फैसला जल्दबाजी में नहीं लिया जाना चाहिए : मिस्बाह

मिस्बाह ने कहा, “कोविड-19 के कारण इस समय पूरे विश्व में तनाव का माहौल है क्योंकि खेल स्थगित हैं और लोग मनोरंजन नहीं कर पा रहे हैं। लोग आगे बढ़ना चाहते हैं और मुझे लगता है कि इसे लेकर कोशिश की जानी चाहिए।”

Written by: May 25, 2020 6:24 pm

लाहौर। पाकिस्तान टीम के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक ने कहा है कि हर कोई टी-20 विश्व कप देखना चाहता है और इसी कारण इस पर फैसला काफी सोच विचार के बाद लिया जाना चाहिए। टी-20 विश्व कप इसी साल 19 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच खेला जाएगा। हालांकि कोविड-19 के कारण इस पर काले बादल मंडरा रहे हैं। मिस्बाह ने क्रिकेटबाज यूट्यब चैनल पर कहा, “16 टीमों की व्यवस्था करना आसान नहीं है, लेकिन अधिकारियों को समय देना चाहिए और फैसला लेने से पहले एक या इससे ज्यादा महीने का इंतजार करना चाहिए।”

Misbah-Ul-Haq

उन्होंने कहा, “हर कोई टी-20 विश्व कप देखना चाहता है। एक बार जब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट शुरू हो जाएगी तब यह खेल को सामने रखने का सर्वश्रेष्ठ साधन होगा।”

कोविड-19 के कारण आईपीएल भी अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। बीसीसीअई सके आयोजन के लिए अक्टबूर और नवबर के बीच का समय देख रही है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि विश्व कप स्थगित हो। मिस्बाह ने कहा कि पाकिस्तान टीम का जुलाई-अगस्त में होने वाला इंग्लैंड दौरा खिलाड़ी, प्रशिक्षक या किसी और के लिए भी आसान नहीं होगा क्योंकि क्रिकेट के लिए स्थिति अच्छी नहीं है। दोनों देशों के बोर्ड इस समय इस बात पर चर्चा कर रहे हैं।

Misbah-Ul-Haq

मिस्बाह ने कहा, “कोविड-19 के कारण इस समय पूरे विश्व में तनाव का माहौल है क्योंकि खेल स्थगित हैं और लोग मनोरंजन नहीं कर पा रहे हैं। लोग आगे बढ़ना चाहते हैं और मुझे लगता है कि इसे लेकर कोशिश की जानी चाहिए।”

खेल जब शुरू होगा तब कुछ नियमों में बदलाव देखने को मिल सकता है जिसमें गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा पर बैन की बातें चल रही हैं। मिस्बाह ने इस पर कहा, “गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा या पसीने का इस्तेमाल न करने के नियम को लागू करना आसान नहीं रहेगा। मुझे लगता है कि पाकिस्तान में तीन सप्ताह का कैम्प और फिर इंग्लैंड में खिलाड़ियों को क्वारंटीन करना खिलाड़ियों को तैयार कर देगा।”