क्या रतन टाटा ने की आधार कार्ड के जरिए शराब बेचने की बात, उन्होंने खुद बताया इसके पीछे का सच!

Ratan Tata: सोशल मीडिया पर रतन टाटा को लेकर जिस तरह की फर्जी खबरे आई हैं, ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी उन्हें लेकर कई खबरें उठ चुकी है। हालांकि कई खबरों पर वो जवाब दे देते हैं लेकिन कुछ पर वो ध्यान नहीं देते। कुछ समय पहले उन्हें लेकर सोशल मीडिया यूजर्स ने एक मांग की थी, जिसकी काफी चर्चा हुई थी।

Written by: September 3, 2021 6:13 pm

नई दिल्ली। बिजनेसमैन रतन टाटा ने आधार कार्ड के जरिए शराब बेचने की बात कहने के दावे को फर्जी बताया है। उन्होंने इंस्टाग्राम पर साफ शब्दों में लिखा कि यह मैंने नहीं कहा है। उन्होंने इस फर्जी कोट में टाटा के हवाले से कहा है कि शराब खरीदारों के लिए सरकारी फूड सब्सिडी बंद की जानी चाहिए। जो शराब खरीद सकते हैं, वो निश्चित रूप से भोजन भी खरीद सकते हैं। जब हम उन्हें मुफ्त भोजन देते हैं, तो वो शराब खरीदते हैं।

सोशल मीडिया पर रतन टाटा को लेकर जिस तरह की फर्जी खबरे आई हैं, ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी उन्हें लेकर कई खबरें उठ चुकी है। हालांकि कई खबरों पर वो जवाब दे देते हैं लेकिन कुछ पर वो ध्यान नहीं देते। कुछ समय पहले उन्हें लेकर सोशल मीडिया यूजर्स ने एक मांग की थी, जिसकी काफी चर्चा हुई थी। दरअसल, उन्हें देश का राष्ट्रपति बनाए जाने की अपील की गई थी। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल जुलाई 2022 में समाप्त होने वाला है। इस बीच, अगले राष्ट्रपति के नाम को लेकर चर्चा की जा रही है। इनमें रतन टाटा का नाम भी शामिल है। इतना भी नहीं सोशल मीडिया पर बकायदा एक कैम्पेन भी चलाया गया जिसमें उन्हें देश का अगला राष्ट्रपति बनाए जाने की अपील की गई थी।

ट्विटर पर #RatanTata4President से अभियान शुरू किया गया था। इतना ही नहीं, तमिल फिल्मों के सबसे बडे़ निर्माता नागा बाबू ने भी रतन टाटा को राष्ट्रपति बनाए जाने का समर्थन किया है। रतन टाटा के बारे में कहा जा रहा है कि उनकी साख बहुत अच्छी है, इसलिए वो इस पद के योग्य हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost