Fact Check: केंद्र सरकार लाई है वर्क फ्रॉम होम की योजना!, जानिए क्या है वायरल मैसेज की सच्चाई

Fact Check: कई कंपनियां घर से काम करने के अवसर दे रही हैं। वहीं अब एक साल बाद भी कई कार्यालय घर से ही काम करा रहे हैं। ऐसी स्थिति में, धोखाधड़ी के इरादे से झूठे मैसेज शुरू में असली लगेंगे। पीआईबी के फैक्ट चेक में कहा है ‘ये दावा फर्जी है. साथ ही भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है। किसी भी फर्जी लिंक पर क्लिक ना करें।’

Written by: August 23, 2021 5:57 pm

नई दिल्ली। कोरोना काल शुरू होने के बाद से देश-दुनिया के लाखों लोगों ने वर्क फ्रॉम होम किया है। कंपनियों उस समय काम करने के इस तरीके को अपनाया था। बल्कि कई कंपनियां आज भी इस तरीके को अपना रही है। लेकिन इन दिनों वॉट्सऐप पर एक मैसेज काफी वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे इस मैसेज में कहा जा रहा है कि सरकार एक संगठन के सहयोग से घर से काम करने के अवसर दे रही है। हालांकि सरकार ने इस मैसेज को झूठा बताते हुए स्पष्ट किया है कि वह ऐसी कोई योजना नहीं लाई है। प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने इस पर फैक्ट चेक किया है। वहीं ट्वीट कर कहा गया है कि ‘सरकार द्वारा ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है. धोखाधड़ी वाले लिंक पर क्लिक ना करें।’

कोरोना महामारी के कारण, कई कंपनियां घर से काम करने के अवसर दे रही हैं। वहीं अब एक साल बाद भी कई कार्यालय घर से ही काम करा रहे हैं। ऐसी स्थिति में, धोखाधड़ी के इरादे से झूठे मैसेज शुरू में असली लगेंगे। पीआईबी के फैक्ट चेक में कहा है ‘ये दावा फर्जी है. साथ ही भारत सरकार द्वारा ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है। किसी भी फर्जी लिंक पर क्लिक ना करें।’

बता दें कि सरकार से संबंधित घोषणाएं मंत्रालयों और विभागों की आधिकारिक वेबसाइटों पर की जाती रहीं हैं। नौकरी से संबंधित घोषणाओं से संबंधित संगठन की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से या फिर संस्थाओं के वेरिफाइड सोशल मीडिया खातों के माध्यम से की जाती हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost