Connect with us

दुनिया

Hindu Temple Attacked: ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में 15 दिन में तीसरी बार हिंदू मंदिर पर हमला, तोड़फोड़ कर खालिस्तान समर्थन में नारे लिखे

इस्कॉन के हरे कृष्ण मंदिर के संचार संबंधी निदेशक भक्त दास ने ऑस्ट्रेलिया की मीडिया को बताया कि पूजास्थल के इस घोर अपमान और उपेक्षा से संस्था और हिंदू काफी नाराज हैं। इस मंदिर के एक भक्त शिवेश पांडेय ने कहा कि लगातार मेलबर्न में हिंदू मंदिरों को निशाना बनाया जा रहा है, लेकिन विक्टोरिया प्रांत की पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ कोई बड़ी कार्रवाई तक करने में विफल रही है।

Published

hindu temple attacked 2

मेलबर्न। कनाडा और ब्रिटेन के बाद अब ऑस्ट्रेलिया में भी हिंदू मंदिरों पर हमले की घटनाएं लगातार हो रही हैं। ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में बीते 15 दिन में तीसरी बार हिंदू मंदिर को निशाना बनाया गया है। इससे पहले की घटना 17 जनवरी को हुई थी। तब बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर पर हमला हुआ था। ताजा मामला मेलबर्न के अल्बर्ट पार्क इलाके का है। यहां इस्कॉन के हरे कृष्ण मंदिर में तोड़फोड़ की गई। मंदिर की दीवारों पर खालिस्तान समर्थक और भारत विरोधी नारे भी लिख दिए गए। ये मंदिर मेलबर्न में भक्ति योग आंदोलन का नामचीन केंद्र है। मंदिर प्रबंधन के मुताबिक सोमवार को मंदिर में तोड़फोड़ का पता चला और खालिस्तान समर्थक व भारत विरोधी नारे लिखे मिले।

इस्कॉन के हरे कृष्ण मंदिर के संचार संबंधी निदेशक भक्त दास ने ऑस्ट्रेलिया की मीडिया को बताया कि पूजास्थल के इस घोर अपमान और उपेक्षा से संस्था और हिंदू काफी नाराज हैं। इस मंदिर के एक भक्त शिवेश पांडेय ने कहा कि लगातार मेलबर्न में हिंदू मंदिरों को निशाना बनाया जा रहा है, लेकिन विक्टोरिया प्रांत की पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ कोई बड़ी कार्रवाई तक करने में विफल रही है। ये लोग शांतिपूर्ण तरीके से रहने वाले हिंदू समुदाय के लोगों के खिलाफ लगातार नफरती एजेंडा चला रहे हैं। इसी मंदिर पर 17 जनवरी को भी हमला हुआ था। ताजा हमला विक्टोरियन मल्टीफेथ नेताओं और मल्टीकल्चरल कमीशन के बीच बातचीत के 2 दिन बाद किया गया है।

hindu temple attacked 1

पिछले हमले के बाद भी मंदिर की दीवारों पर आतंकी भिंडरावाले के समर्थन में नारे लिखे गए थे। बता दें कि जरनैल सिंह भिंडरावाले के उकसाने पर पंजाब में आतंकवाद फैलाने और 20 हजार से ज्यादा सिखों और हिंदुओं की हत्या की गई थी। उसे मंदिर की दीवारों पर लिखे नारों में शहीद बताया जा रहा है। विक्टोरिया प्रांत में ऑस्ट्रेलिया हिंदू संघ के अध्यक्ष मकरंद भागवत ने मीडिया से कहा है कि पूजास्थलों के खिलाफ नफरत की कोई भी कार्रवाई समर्थन योग्य हो नहीं सकती। मकरंद ने ये भी कहा कि मंदिरों पर हमले की उनका संगठन घोर निंदा करता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement