Connect with us

दुनिया

LAC Row: चीन पर भारत की बड़ी जीत, लद्दाख में गोगरा-हॉटस्प्रिंग से दुश्मन की सेना हटनी शुरू, भारत भी पीछे हटाएगा जवान

LAC Row: बता दें कि PP-15 में चीन और भारत की सैनिकों के बीच दूरी वो 100 मीटर से भी कम की थी। इसी वजह से बड़ा प्लैश प्वाइंट माना जा रहा था कि कभी भी दोनों देशों की सेना किसी विवाद के चलते बड़ा सर्घष में ना बदल जाए और इसीलिए पिछली बार दोनों देशों के कोर कमांडर के बीच जो बैठक हुई थी उसमें सहमति बनी थी कि इस प्वाइंट से भी दोनों देशों की सेना पीछे हट जाए।

Published

on

नई दिल्ली। चीन पर भारत की बड़ी जीत हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उज्बेकिस्तान में एससीओ शिखर सम्मेलन में शरीक होने से पहले एक बड़ी खबर सामने आई है। गोगरा-हॉट स्प्रिंग प्वाइंट से चीनी सैनिक पीछे हटाने को तैयार हो गए हैं। 16 राउंड की कमांडर लेवल की बातचीत के बाद ये फैसला लिया गया है। भारत और चीन के सैनिक एलएसी पर PP-15 से हटाने को तैयार हो गए है। बता दें कि पूर्वी लद्दाख में बीते 2 सालों से जिन इलाकों को लेकर विवाद था उसमें PP-15 यानी की पेट्रोलिंग प्वाइंट-15 आखिरी विवादित इलाका बचा था। इससे भी आज दोनों देशों की सेना पीछे हटाने शुरू हो गई है। ज्ञात हो कि लद्दाख क्षेत्र में लंबे वक्त से भारत और चीन के बीच गतिरोध देखने को मिला है। लेकिन आज लद्दाख में सीमा विवाद को सुलझाने में भारत को बड़ी कामयाबी मिली है।

india_china-sixteen_nine

बता दें कि PP-15 में चीन और भारत की सैनिकों के बीच दूरी वो 100 मीटर से भी कम की थी। इसी वजह से बड़ा प्लैश प्वाइंट माना जा रहा था कि कभी भी दोनों देशों की सेना किसी विवाद के चलते बड़ा सर्घष में ना बदल जाए और इसीलिए पिछली बार दोनों देशों के कोर कमांडर के बीच जो बैठक हुई थी उसमें सहमति बनी थी कि इस प्वाइंट से भी दोनों देशों की सेना पीछे हट जाए।

जिसके बाद गुरुवार 8 अगस्त से भारत और चीन की सेना पीछे हटानी शुरू हो गई है। जानकारी के लिए बता दें कि पुराने दो विवादित इलाके है जिनमें डेमचोक और डेपसांग है वहं पर अभी भी दोनों देशों के सेना के बीच तनातनी जारी है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement