लोगों की लापरवाही पर सख्त हुआ पाकिस्तान, ईद की छुट्टियों के बाद लॉकडाउन में कड़ाई की चेतावनी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य मामलों के सलाहकार जफर मिर्जा ने चेतावनी दी है कि अगर देश की अवाम ने जिन शर्तो के साथ लॉकडाउन में ढील दी गई है, उनका पालन नहीं किया तो ईद की छुट्टियों के बाद देश में छूटों को खत्म कर सख्त लॉकडाउन लगा दिया जाएगा।

Written by: May 26, 2020 7:18 pm

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य मामलों के सलाहकार जफर मिर्जा ने चेतावनी दी है कि अगर देश की अवाम ने जिन शर्तो के साथ लॉकडाउन में ढील दी गई है, उनका पालन नहीं किया तो ईद की छुट्टियों के बाद देश में छूटों को खत्म कर सख्त लॉकडाउन लगा दिया जाएगा। देश में ईद की छुट्यिां 27 मई को समाप्त हो रही हैं।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान व देश के कारोबारियों के साथ-साथ देश के सुप्रीम कोर्ट ने भी ईद से पहले होने वाले भारी कारोबार के मद्देनजर लॉकडाउन में छूट का पक्ष लिया। इमरान रोजाना कमाने वाले गरीब तबके की रोजी-रोटी के नाम पर हमेशा से लॉकडाउन के एक हद तक खिलाफ ही रहे हैं।

pakistan imran khan
इन स्थितियों में देश में लॉकडाउन से इस हद तक ढील दी गई कि वस्तुत: यह खत्म ही हो गया। सरकार ने मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का ऐलान तो किया था, लेकिन उनकी खुलेआम धज्जियां उड़ीं और इस दौरान कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़े हैं। पाकिस्तान में मंगलवार शाम तक कोरोना के 58278 मामले सामने आ चुके हैं और इससे 1202 लोगों की मौत हो चुकी है।

अब, जबकि ईद के अवसर पर होने वाले कारोबार का समय बीत चुका है, तब सरकार ने चेतावनी दी है कि अगर एसओपी का ऐसे ही लोग उल्लंघन करते रहे तो सख्त लॉकडाउन लगा दिया जाएगा।

मिर्जा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि ‘हमने लॉकडाउन में ढील के समय ही कहा था कि अगर एसओपी का उल्लंघन हुआ तो ईद के बाद हम फिर से कड़ा लॉकडाउन लगा देंगे।’ उन्होंने कहा कि लोगों में यह धारणा बन गई है कि देश में कोरोना महामारी खत्म हो चुकी है जबकि सच्चाई यह है कि कोरोना मामले और इससे होने वाली मौतें बढ़ी हैं।

उन्होंने कहा, “मैं पाकिस्तानियों को चेताना चाहता हूं कि अगर आप सुरक्षात्मक उपाय नहीं करेंगे तो देश में बहुत बड़ी त्रासदी पैदा हो सकती है। मैं कौम से आग्रह कर रहा हूं कि वायरस को रोकने के लिए बेहद जिम्मेदारी से काम करें। मामले बढ़ रहे हैं, हमें पहले से ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। जहां तक संभव हो, घर में रहें, सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करें, मास्क लगाएं व अन्य एहतियाती उपाय करें।”