Albanese On Modi: दो ऑस्ट्रेलियाई पत्रकारों ने पीएम मोदी पर उठाई अंगुली, ऑस्ट्रेलिया के पीएम अल्बनिस ने दिया करारा जवाब

पीएम नरेंद्र मोदी अपनी 3 देशों की यात्रा के आखिरी दौर में ऑस्ट्रेलिया पहुंचे थे। वहां उन्होंने पीएम एंथनी अल्बनिस के साथ सिडनी में प्रवासी भारतीयों के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। इस कार्यक्रम में अल्बनिस ने मोदी को ‘बॉस’ बताया था। अब उन्होंने मोदी को घेर रहे दो पत्रकारों की बोलती अपने जवाब से बंद कर दी।

Avatar Written by: May 25, 2023 8:11 am
modi and albanese

सिडनी। पीएम नरेंद्र मोदी अपनी 3 देशों की यात्रा के आखिरी दौर में ऑस्ट्रेलिया पहुंचे थे। वहां उन्होंने पीएम एंथनी अल्बनिस के साथ सिडनी में प्रवासी भारतीयों के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। इस कार्यक्रम में अल्बनिस ने मोदी को ‘बॉस’ बताया था। मोदी के भारत के लिए रवाना होने के बाद ऑस्ट्रेलियाई पीएम एंथनी अल्बनिस मीडिया से रू-ब-रू हुए। यहां सनराइज टीवी के होस्ट डेविड कोच और ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (एबीसी) के माइकल रॉलैंड ने मोदी से जुड़े मुद्दों पर अंगुली उठाने की कई बार कोशिश की। इन कोशिशों पर अल्बनिस ने इन पत्रकारों को करारा जवाब दिया और उनकी बोलती बंद कर दी।

modi and albanese 1

डेविड कोच ने मोदी की लोकप्रियता पर सवाल खड़ा किया था औऱ कहा कि वो सोच रहे हैं कि भारत में 80 फीसदी लोगों में उनकी कैसे लोकप्रियता हो सकती है। कोच ने ये भी कहा कि मोदी पर आरोप लगते हैं कि वो प्रेस को दबाते हैं, अल्पसंख्यकों से भेदभाव करते हैं और लोकतंत्र को कमजोर किया है। उन्होंने मोदी को तानाशाह किस्म का भी बताया। इसके जवाब में एंथनी अल्बनिस ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और हमने वहां का अद्भुत विकास देखा है। अल्बनिस ने कहा कि पीएम मोदी ज्यादातर लोगों में लोकप्रिय हैं। डेविड कोच ने इस पर कहा कि क्या मोदी ने ऐसा करने के लिए कड़ा रुख अपनाया है। इस पर अल्बनिस ने कहा कि भारत मे लोगों के अलग-अलग विचार हैं और ये अच्छी बात है।

anthony albanese

मोदी के सिडनी दौरे पर कुछ प्रवासियों ने प्रदर्शन किया था। एबीसी के माइकल रॉलैंड ने इसे मुद्दा बनाकर मोदी पर अंगुली उठाने की कोशिश की। रॉलैंड ने कहा कि इससे साफ है कि मोदी को सभी प्रवासी भारतीयों का समर्थन नहीं मिला। रॉलैंड ने ये भी कहा कि मोदी पर अपने राजनीतिक विरोधियों और मीडिया को दबाने और मुसलमानों से भेदभाव का आरोप है। उन्होंने पूछा कि क्या मोदी पर लगने वाले इन आरोपों में से कोई आपको परेशान नहीं करता। इस पर अल्बनिस ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में सभी अपनी बात शांतिपूर्ण तरीके से रख सकते हैं। हम हमेशा मानवाधिकारों के लिए खड़े होते हैं। इस पर माइकल रॉलैंड ने सवाल दागा कि क्या अल्बनिस, मोदी के सामने मानवाधिकारों का मुद्दा उठाएंगे। इस पर अल्बनिस ने ये कहकर उनकी बोलती बंद कर दी कि वो दुनिया के किसी भी नेता से मुद्दों पर सीधे बात करते हैं। ऑस्ट्रेलिया के पीएम ने कहा कि मोदी और अन्य नेताओं से उनके रिश्ते बहुत ही सम्मानजनक हैं।