Connect with us

दुनिया

रोटी-रोटी को मोहताज श्रीलंका, अब ये पूर्व खिलाड़ी बना लोगों के लिए देवदूत, ऐसे कर रहा है लोगों की मदद

Sri Lanka: दरअसल, श्रीलंका में जारी आर्थिक संकट के बीच अब पूर्व खिलाड़ी रोशन महानम देवदूत की भूमिका में नजर आ रहे हैं। इसके लिए उनकी जितनी तारीफ की जाए, उतनी कम है। रोशन महानम इस विपदा के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं। वे अपनी तरफ से हर संभंव मदद मुहैया कराने की कोशिश कर रहे हैं। वे आम लोगों को अपने अर्थ से दैनिक जरूरतों को पूरा कर रहे हैं।

Published

on

नई दिल्ली। श्रीलंका की आर्थिक बदहाली के बारे में तो आपको पता ही होगा कि कैसे अभी वहां लोग दाने-दाने के लिए मोहताज हो रहे हैं। आर्थिक बदहाली अब अपने चरम पर पहुंच चकी है। कल-कारखानों में ताला लग चुका है। देश का खजाना भी अब खाली हो चुका है। वहां रहने वाले लोगों की बेबसी, लाचारी और गुरबत के बारे में अब आपको क्या ही बताएं। बस, इतना समझ लीजिए कि वहां के लोगों को दैनिक जरूरतों के लिए भी मुहाल होना पड़ रहा है।  हालांकि इस विपदा की स्थिति में भारत ने श्रीलंका की हर  मुमकिन मदद की है। श्रीलंका की डांवाडोल हो चुकी अर्थव्यवस्था के बीच भारत ने यह ऐलान करने से भी कोई गुरेज नहीं किया है कि हम से जिनता हो सकेगा, हम श्रीलंका की उतनी मदद करेंगे। वहां बीते दिनों इसी आर्थिक बदहाली की वजह से वहां राजनीतिक सत्ता परिवर्तन भी देखने को मिली थी। बहरहाल, अब ऐसी स्थिति में श्रीलंका की आर्थिक स्थिति क्या रुख अख्तियार करती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। लेकिन, इससे पहले ही एक उत्साहवर्धन खबर सामने आई है, जिसे जानकर अब हर्षित हो जाएंगे।

दरअसल, श्रीलंका में जारी आर्थिक संकट के बीच अब पूर्व खिलाड़ी रोशन महानम देवदूत की भूमिका में नजर आ रहे हैं। इसके लिए उनकी जितनी तारीफ की जाए, उतनी कम है। रोशन महानम इस विपदा के बीच लोगों की मदद कर रहे हैं। वे अपनी तपफ से हर संभंव मदद मुहैया कराने की कोशिश कर रहे हैं। वे आम लोगों को अपने अर्थ से दैनिक जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। बता दें कि वर्तमान में श्रीलंका में लोग आम जरूरतों के लिए भी मुहाल हो रहे हैं। लेकिन, इस बीच वे जिस तरह की भूमिका अदा कर रहे हैं, वह यकीनन कालिब-ए-तारीफ है। बता दें कि उन्होंने इस बारे में खुद ट्वीट कर जानकारी साझा की  है, जिसमें उन्होंने  कहा कि, ‘हमने आज शाम सामुदायिक भोजन शेयर की टीम के साथ वार्ड प्लेस और विजेरामा मावथा के आसपास पेट्रोल की कतारों में लोगों के लिए चाय और बन परोसा। कतारें दिन पर दिन लंबी होती जा रही हैं और कतारों में रहने वाले लोगों के लिए कई स्वास्थ्य जोखिम होंगे।

बता दें कि रोशन ने खुद इसके बारे में ट्वीट कर जानकारी साझा की है, जिसे लेकर लोग अलग-अलग तरह से अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं, श्रीलंका की आर्थिक बदहाली के बीच उसे मदद पहुंचाने की पूरी कोशिश जारी है। अब ऐसी स्थिति में कब तक श्रीलंका की स्थिति में सुधार देखने को मिल पाता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। तब तक के लिए आप देश दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए  आप पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement