भारत में चाइनीज एप्स पर बैन लगाने को लेकर अमेरिका ने कही बड़ी बात, चीन को लग सकता है झटका!

वाशिंगटन में संवाददाताओं के साथ बातचीत में माइक पोम्पियो ने कहा, ‘चीन द्वारा जासूसी के लिए उपयोग की जा रही एप पर भारत द्वारा लगाए गए प्रतिबंध का हम स्वागत करते हैं। इससे भारत की संप्रभुता के साथ ही आंतरिक और राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा होगी। भारत सरकार ने भी अपने बयान में ऐसा ही कहा है।’

Written by: July 2, 2020 8:28 am

न्यूयार्क। चीन के 59 ऐप्स को बैन करने के फैसले पर भारत को अमेरिका का समर्थन मिला है। अमेरिका ने भारत की इस कार्रवाई की सराहना की है।अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीनी एप पर प्रतिबंधों की भारत की ‘क्लीन एप’ नीति का स्वागत किया है। बता दें कि एक ओर जहां कोरोना महामारी  को लेकर वो अमेरिका के निशाने पर है तो वहीं लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत उसकी हर नापाक साजिशों का मुंहतोड़ जवाब दे रहा है।

उन्होंने कहा कि इससे भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा मजबूत होगी और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) की जासूसी पर लगाम लगेगी। भारत ने हाल ही में 59 चीनी पर प्रतिबंध लगाया गया है।

PM Modi And Donald Trump

वाशिंगटन में संवाददाताओं के साथ बातचीत में माइक पोम्पियो ने कहा, ‘चीन द्वारा जासूसी के लिए उपयोग की जा रही एप पर भारत द्वारा लगाए गए प्रतिबंध का हम स्वागत करते हैं। इससे भारत की संप्रभुता के साथ ही आंतरिक और राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा होगी। भारत सरकार ने भी अपने बयान में ऐसा ही कहा है।’

mike pompeo

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार ने देश की एकता, अखंडता एवं संप्रभुता को खतरा बताते हुए 59 चीनी एप पर प्रतिबंध लगा दिया। भारत ने इसके साथ ही टेलीकाम कंपनियों के चीनी उपरकरण के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दिया है।

भारत को मिला अमेरिका का साथ

India-China LAC

एलएसी पर चीन के साथ तनाव को लेकर अमेरिका भारत के साथ खड़ा है। गलवान घाटी में शहीद हुए भारत के 20 सैनिकों को अमेरिका ने श्रद्धांजलि भी दी। अमेरिका की ओर से बयान भी आ चुका है कि वह मामले पर नजर बनाया हुआ है।