Xi Jinping : आईसीसी ने पुतिन के खिलाफ निकाला अरेस्ट वारंट तो भड़क उठा ‘ड्रैगन’, कहा- ‘डबल स्टैंडर्ड हैं आप..

Xi Jinping :एक तरह से चीन कम्युनिस्ट रूस पर अपनी दोस्ती की धाक जमाना चाहता है। शी जिनपिंग के रूस दौरे से ठीक पहले पुतिन के समर्थन में चीन का बयान उसकी कूटनीति का हिस्सा है। चीन कह चुका है कि वह रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध में मध्यस्थता करते हुए जंग को समाप्त करने की पहल करना चाहता है।

Avatar Written by: March 20, 2023 3:56 pm

मॉस्को। अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय के द्वारा रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के खिलाफ निकाले गए अरेस्ट वारंट पर चीन भड़क उठा है। चीन की बयान इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि चीन अंतरराष्ट्रीय मंचों पर महत्वपूर्ण स्थान रखता है ऐसे में उसकी राय मायने रखती है। लंबे समय से यूक्रेन में कत्लेआम के आरोपों पर अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय (आईसीसी) ने पुतिन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट इश्यू किया था। बता दें कि इस बारे में चीनी सरकार की ओर से एक बयान जारी किया गया जिसमें कहा गया कि आईसीसी डबल स्टैंडर्ड है और पुतिन को लेकर उसका रुख सही नहीं है। आईसीसी की आलोचना करते हुए चीन ने उसे दोहरे मापदंड से बचने और देश के प्रति प्रतिरक्षा की भावना का सम्मान करने की हिदायत दी।

आपको बता दें कि इस बारे में बात करते हुए चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय से “राजनीतिकरण और दोहरे मानकों से दूरी रखने” की अपील की, साथ ही ब्रीफिंग में उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि अदालत को “एक उद्देश्य और निष्पक्ष रुख बनाए रखना बेहद आवश्यक है” और ” इंटरनेशनल लॉ के तहत अधिकार क्षेत्र से राष्ट्राध्यक्षों की प्रतिरक्षा का सम्मान करने की भी सख्त जरूरत है।”

अभी कुछ दिनों पहले ही आईसीसी ने पुतिन के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी किया था। आईसीसी के इस फैसले का यूक्रेन, पश्चिमी देश और अमेरिका ने सराहना की है। वहीं, रूस ने नाराजगी जाहिर करते हुए इसे ‘टॉयलेट पेपर’ कहा था। यह भी कहा कि रूस इस फैसले को नहीं मानता क्योंकि वह आईसीसी के मेंबर के तौर पर उसमें शामिल नहीं है।

Xi Jinping On Covid

गौरतलब है कि लगातार तीसरी बार चीन के राष्ट्रपति चुने गए शी जिनपिंग इस हफ्ते रूस दौरे पर जाने को तैयार हैं। इससे ठीक पहले व्लादिमीर पुतिन को लेकर चीन का यह बयान कई मायनों में महत्वपूर्ण है। एक तरह से चीन कम्युनिस्ट रूस पर अपनी दोस्ती की धाक जमाना चाहता है। शी जिनपिंग के रूस दौरे से ठीक पहले पुतिन के समर्थन में चीन का बयान उसकी कूटनीति का हिस्सा है। चीन कह चुका है कि वह रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध में मध्यस्थता करते हुए जंग को समाप्त करने की पहल करने की हिमायत करता है। चीन मानता है कि वह ही रूस और यूक्रेन के बीच जंग को समाप्त करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।