Connect with us

दुनिया

अब कोरोना के साथ जीने को कह रहा WHO, बताया युवाओं में भी मौत का खतरा

दुनियाभर में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। विश्व में नोवल कोरोनोवायरस मामलों की कुल संख्या 1.72 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है। ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस घातक महामारी को लेकर नई चेतावनी दी है।

Published

on

WHO

पेरिस। दुनियाभर में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। विश्व में नोवल कोरोनोवायरस मामलों की कुल संख्या 1.72 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है। वहीं इससे होने वाली मौतों की संख्या बढ़कर 671,000 से अधिक हो गई हैं।

world corona

ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस घातक महामारी को लेकर नई चेतावनी दी है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि फिलहाल कोरोना वायरस की वैक्सीन बनने में वक्त लगने वाला है। तब तक दुनिया को इसके साथ जीना सीख लेना चाहिए।

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रॉस अडहॉनम गीब्रीएसुस ने कहा है कि दुनिया को करोना वायरस के साथ ‘जीना सीखना होगा।’ अगर युवा ये समझ रहे हैं कि उन्हें वायरस से खतरा नहीं तो ऐसा गलत है। युवाओं की न सिर्फ संक्रमण से मौत हो सकती है, बल्कि वे कई कमजोर वर्गों तक इसे फैलाने का काम भी कर रहे हैं।

WHO

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान टेड्रॉस ने कहा, ”हम सभी को इस वायरस के साथ रहना सीखना होगा और हमें अपने और दूसरों के जीवन की सुरक्षा करते हुए, जिंदगी जीने के लिए जरूरी एहतियात अपनाने की जरूरत है।” उन्होंने कई देशों में फिर से जारी की गई पाबंदियों की प्रशंसा भी की। टेड्रॉस ने सऊदी अरब की लगाई पाबंदियों का जिक्र किया और सऊदी सरकार के कदमों की तारीफ भी की।

Advertisement
Advertisement
Advertisement