शी जिनपिंग और बांग्लादेश व म्यांमार के नेताओं के बीच फोन पर बातचीत

बातचीत में विन मिन्त ने कहा कि म्यांमार चीन द्वारा डब्ल्यूएचओ और म्यांमार समेत अन्य देशों के कोविड-19 के मुकाबले में दिये गये समर्थन व मदद की प्रशंसा करता है।

Written by: May 22, 2020 8:49 am

नई दिल्ली। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अलग अलग तौर पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और म्यांमार के राष्ट्रपति विन मिन्त से फोन पर बातचीत की। हसीना के साथ बातचीत में शी जिनपिंग ने कहा कि चीन द्वारा कोविड-19 के मुकाबला के वक्त बांग्लादेश के विभिन्न तबकों के लोगों ने विविध तरीकों से चीन का समर्थन किया, जिससे चीनी जनता के प्रति बांग्लादेश की जनता की गहरी भावना जाहिर हुई है।

Jinping Sheikh Haseena

हाल में दक्षिण एशियाई क्षेत्र में महामारी की स्थिति गंभीर हो रही है और रोकथाम का मिशन अब भी कठोर रहा। चीन बांग्लादेश की मांग पर उसे समर्थन और हरसंभव मदद देगा।

शी ने जोर दिया कि चीन अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में बाधा डालने और व्यापक विकासशील देशों की महामारी रोकथाम के प्रयास को क्षति पहुंचाने वाली कार्यवाई का विरोध करता है। चीन डब्ल्यूएचओ संगठन की नेतृत्व भूमिका अदा करने का समर्थन करता है। चीन वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य सुरक्षा की रक्षा करता है। चीन और बांग्लादेश परम्परागत मैत्रीपूर्ण पड़ोसी देश हैं। दोनों को द्विपक्षीय सामरिक सहयोग साझेदारी संबंधों को मजबूत करना चाहिए और बेल्ट एंड रोड के सहनिर्माण को गहरा करना चाहिए।

Jinping Sheikh Haseena pic
हसीना ने कहा कि चीन ने बांग्लादेश को मूल्यवान समर्थन और मदद दी, जिस के प्रति बांग्लादेश आभार प्रकट करना चाहता है। बांग्लादेश में चीनी नागरिकों के जीवन को सुनिश्चित करेगा और चीन के साथ बेल्ट एंड रोड का सहनिर्माण करेगा।

म्यांमार के राष्ट्रपति विन मिन्त से फोन बातचीत में शी जिनपिंग ने कहा कि चीन में कोविड-19 के प्रकोप के बाद म्यांमार सरकार और समाज के विभिन्न तबकों के लोगों ने सहायता दी। हाल में म्यांमार में महामारी की स्थिति पर भी चीन नजर रखता है। चीन ने म्यांमार को कुछ महामारी विरोधी सामग्री दी है और कुछ चिकित्सक दलों को भी म्यांमार भेजा है। चीन म्यांमार की मांग पर उसे हरसंभव मदद देगा।

चीन म्यांमार समेत अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ डब्ल्यूएचओ की नेतृत्व भूमिका का समर्थन करता है, अंतर्राष्ट्रीय न्यायता और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमों की दृढ़ रक्षा करता है। इस साल चीन-म्यांमार के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। दोनों देशों को महामारी की रोकथाम के आधार पर विभिन्न क्षेत्रों के आदान प्रदान व सहयोग को आगे बढ़ाना चाहिए, सीमांत क्षेत्र की शांति की रक्षा करनी चाहिए और महामारी रोकथाम कार्य और पुन:उत्पादन को आगे बढ़ाना चाहिए।

China Myanmar
बातचीत में विन मिन्त ने कहा कि म्यांमार चीन द्वारा डब्ल्यूएचओ और म्यांमार समेत अन्य देशों के कोविड-19 के मुकाबले में दिये गये समर्थन व मदद की प्रशंसा करता है। महामारी के सामने विभिन्न देशों को सहयोग को मजबूत कर अंतर्राष्ट्रीय न्यायता की रक्षा करनी चाहिए और हरेक देश के विकास अधिकार की रक्षा करनी चाहिए। म्यांमार चीन के साथ द्विपक्षीय मैत्री और सहयोग को गहरा कर तमाम सामरिक सहयोग साझेदारी संबंधों को निरंतर आगे विकसित करेगा।