Connect with us

ज्योतिष

जानियें छिपकली से जुड़े शगुन और अपशगुन को

शरीर के इन अंगों पर यदि छिपकली गिरती हैं तो बनते हैं करोड़पति। शकुन शास्त्र के अनुसार छिपकली के शरीर पर गिरने को भी शकुन/ अपशकुन माना जाता है।

Published

on

नई दिल्ली। शरीर के इन अंगों पर यदि छिपकली गिरती हैं तो बनते हैं करोड़पति। शकुन शास्त्र के अनुसार छिपकली के शरीर पर गिरने को भी शकुन/ अपशकुन माना जाता है। सामान्यतया दो प्रकार की छिपकलियां पाई जाती है, एक जंगली और एक घरेलू। छिपकली की जंगली नस्ल को गिरगिट कहा जाता है जबकि घरों में पाई जाने वाली छिपकली घरेलू छिपकली कही जाती है।

शकुन शास्त्र के अनुसार छिपकली के शरीर पर गिरने को भी शकुन/अपशकुन माना जाता है। स्त्री के शरीर के बायें भाग पर, पुरुष के शरीर के दाहिनी तरफ गिरना ठीक होता है। इसी प्रकार छिपकली का नीचे से ऊपर की ओर चढ़ना शुभ माना जाता है। ऊपर से नीचे की ओर गिरना अच्छा नहीं होता। रविवार या मंगलवार को लाल रंग की छिपकली तथा शनिवार को काले रंग की छिपकली से कम हानि होती है।

छिपकली होती है मां लक्ष्मी का प्रतीक

घर में छिपकली देखकर हम उसे भगाने लगते हैं, लेकिन वो कोई ऐसा जीव नहीं है जिससे हमारा कुछ नुकसान होता है। वैसे घर में छिपकली का दिखा जाना एक सामान्य-सी बात है। ये मात्र एक जीव हैं किंतु जीव-जंतुओं और मनुष्य को प्रकृति का एक अहम हिस्सा माना गया है। किसी भी परेशानी से निपटने में जीवों की सेवा करने से शुभ फल मिलता है। इसी तरह हिन्दू शास्त्रों में छिपकली के दिखने और उससे जड़ी गतिविधियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है। शास्त्रों में प्रचलित शकुन शास्त्र के अनुसार छिपकली का किसी विशेष समय पर दिखना, जमीन पर या शरीर पर गिरना भविष्य की शुभ-अशुभ घटनाओं का संकेत होता है। इसके अलावा छिपकली शरीर के किस खास हिस्से पर गिरी है इससे भी भविष्य की शुभ-अशुभता जुड़ी होती है।

शास्त्रों के अनुसार छिपकली यदि दिवाली की रात घर में दिखाई दे जाए तो इसे लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि उसके आने से वर्षों के लिए वह घर सुख-समृद्धि को प्राप्त कर लेती है। किंतु छिपकली के एक प्रयोग के माध्यम से कैसे लाभ पाया जा सकता है, छिपकली दिखने पर ये सरल टोटका अपनाने से बन जाते हैं सारे काम- जब भी कभी आपको घर में दीवार पर छिपकली दिखे तो तुरंत मंदिर में या भगवान की मूर्ति के पास रखा कंकू-चावल ले आएं और इसे दूर से ही छिपकली पर छिड़क दें। ऐसा करते हुए अपने मन की किसी मुराद को भी मन ही मन बोलें और यह कामना करें कि वह पूरी हो जाए। ऐसा माना जाता है कि छिपकली एक पूजनीय प्राणी है और इसका पूजन करने से धन संबंधी समस्याओं का अंत हो जाता है।

छिपकली एक ऐसा जीव है जिसे देखते ही लोगों को घिन आने लगती है। इससे डर कर या भगा कर आप अपना ही नुकसान करते हैं। इसे लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। दिवाली के दिन पूजा के दौरान जब छिपकली सामने आ जाती है तो ये एक शुभ संकेत होता है। लेकिन जब दिवाली की सफाई की जा रही हो और उसमें मरी हुई छिपकली आपके सामने आ जाए तो ये एक अशुभ संकेत माना जाता है। आपसे सफाई करते हुए यदि कोई छिपकली या उसका बच्चा मर जाए तो तुरंत उसका संस्कार कर दें। इससे आप हत्या के पाप से बच जाएगें और मां लक्षमी भी नाराज नहीं होगीं।

भविष्य में होने वाली घटनाओं का संकेत देती है छिपकली, जानिए कैसे पता चलता है शगुन-अपशगुन के बारे में

हमारे शास्त्रों में कई ऐसे जानवरों व पशु-पक्षियों का जिक्र किया गया है, जिनसे यदि आप रूबरू हो जाएं तो उनका आपके जीवन में गहरा प्रभाव पड़ सकता है। मसलन, इनमें से कई पशु-पक्षी आपके लिए शुभ हो सकते हैं तो कई आपके लिए अपशगुन भी हो सकते हैं। इसी कड़ी हम आपको आज छिपकली के बारे में बताने जा रहे हैं। यदि आपका पाला छिपकली से पड़ता है। मतलब.. यदि आपको अपने घर में छिपकली दिख जाए तो इसके क्या-क्या संकेत हो सकते हैं। इसके क्या शुभ संकेत हो सकते हैं या फिर क्या अशुभ, आज हम इसी पर चर्चा करने जा रहे हैं। ये भी पढ़े :वाइल्ड लाइफ शो में ड्रैगन ने कैमरे को समझा मादा, बनाने लगा शारीरिक संबंध, अगर आपको नए घर में कोई छिपकली दिख जाए तो इसका सीधा-सीधा मतलब होता है कि उस घर का गृह स्वामी बीमार पड़ने वाला है, इसलिए आप कोशिश करें कि जब कभी-भी आप नए घर में दस्तक दें तो आपको छिपकली के दर्शन न हो। दरअसल, ऐसा शगुन शास्त्र में बताया गया है। हालांकि, ऐसे अपशगुन से विधिवत पूजा से बचा जा सकता है।

यदि आपको छिपकली का बोलना सुनाई दे तो समझ जाइएगा कि आपको कोई शुभ समाचार सुनाई देने वाला है अन्यथा आपको कोई शुभ प्रतिफल प्राप्त होने वाला है। हालांकि, अधिकांश समय में यह अवलोकन किया गया है छिपकली शाम के समय बोला करती हैं। वहीं, अगर त्रूटि से भी आपकी भौंह पर छिपकली गिर जाए तो इसका स्पष्ट संकेत होता है कि आपको व्यक्तिगत  तौर पर धन की क्षति हो सकती है। इसका स्पष्ट संकेत यह भी है कि आपका धन छीना जा सकता है। दाहिनी हथेली पर छिपकली गिरने से कपड़े मिलते हैं। बाई हथेली पर छिपकली गिरने पर धन की हानि होती है। इसके साथ ही अगर कमर के पास छिपकली गिरती है तो धन का लाभ प्राप्त होता है। वहीं, पीठ पर छिपकली गिरने से घरेलू कलह होने की आसार बढ़ जाते हैं।

आइए ज्योतिषाचार्य पंडित दयानन्द शास्त्री जी से  जानते हैं किसी भी मनुष्य के शरीर के विभिन्न अंगों पर छिपकली के गिरने के क्या शुभ-अशुभ परिणाम होते हैं

छिपकली गिरने के सामान्य परिणाम

–  शास्त्रों के अनुसार यदि दिन में भोजन करते समय छिपकली की आवाज सुनाई दे तो जल्दी ही कोई शुभ समाचार प्राप्त होता है।

–  अगर छिपकली समागम (सेक्स) करती हुई दिखाई दें तो किसी बहुत पुराने मित्र से मुलाकात होती है।

–  यदि दो छिपकलियां आपस में लड़ती दिखाई दें तो किसी प्रियजन से अलग होने का दुख सहन करना पड़ सकता है।

–  नए घर में प्रवेश करते हुए यदि गृहस्वामी को छिपकली मरी हुई व मिट्टी लगी हुई दिखाई दे तो उसमें निवास करने वाले लोग रोगी हो सकते हैं।

शरीर के विभिन्न अंगों पर छिपकली गिरने के शुभ/ अशुभ परिणाम

–  अगर माथे पर छिपकली गिरती है तो बड़ी संपत्ति प्राप्त होती है।

–  बालों पर अगर छिपकली गिरे तो जीवन पर संकट होता है, मृत्यु भी हो सकती है।

–  दाहिने कान पर छिपकली के गिरने से स्वर्णाभूषणों की प्राप्ति होती है।

–  बाएं कान पर छिपकली गिरने से आयु बढ़ती है।

–  दाहिनी आंख पर छिपकली गिरने पर किसी अच्छे दोस्त से मिलेंगे जबकि बाईं आंख पर छिपकली गिरने से जल्दी ही कोई बड़ा नुकसान होने का संकेत मिलता है।

–  भौंहों पर छिपकली गिरने से आर्थिक नुकसान होता है।

–  नाक पर छिपकली का गिरना भाग्योदय का संकेत है।

–  मुख पर छिपकली का गिरना शीघ्र ही मधुर भोजन की प्राप्ति कराता है।

–  बाएं गाल पर छिपकली गिरने पर पुराने मित्र से मुलाकात होती है जबकि दाहिने गाल पर छिपकली गिरने से उम्र बढ़ती है।

–  गर्दन पर छिपकली गिरने से सौभाग्य तथा यश मिलता है।

–  दाढ़ी पर छिपकली गिरने से किसी बड़े और भयावह संकट का सामना करना पड़ सकता है।

–  मूंछ पर छिपकली गिरने से सम्मान की प्राप्ति होती है।

–  कंठ पर छिपकली गिरने पर शत्रुओं का नाश होता है।

–  दाहिने कंधे पर छिपकली गिरने से वाद-विवाद, युद्ध में विजय मिलती है जबकि बाएं कंधे पर छिपकली गिरने पर नए शत्रु बनते हैं।

–  दाहिने हाथ पर छिपकली गिरने पर धन लाभ तथा बाएं हाथ पर गिरने पर धनहानि होती है।

–  दाहिनी हथेली पर छिपकली गिरने से नए वस्त्रों की प्राप्ति होती है जबकि बाईं हथेली पर गिरने पर धनहानि होती है।

–  दाएं स्तन (अथवा छाती के दाहिनी ओर) छिपकली गिरने पर नई खुशियां मिलती है जबकि बाई छाती (स्तन) पर गिरने से घर में क्लेश होता है।

–  पेट पर छिपकली गिरना नए आभूषण प्राप्त होने का संकेत है।

–  कमर के बीच में छिपकली गिरने पर आर्थिक लाभ होता है। पीठ के दाईं तरफ गिरने पर सुख जबकि बाईं तरफ गिरने पर व्यक्ति रोगी बनता है।

–  पीठ के बीच में छिपकली गिरने पर घर में बड़ा क्लेश होता है।

–  नाभि पर छिपकली गिरने पर सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

–  दाईं जाघ पर गिरने से सुख तथा बाईं जांघ पर गिरने पर महान दुख प्राप्त होता है।

–  दाएं घुटने पर छिपकली गिरना जल्दी ही किसी शुभ यात्रा का संकेत है जबकि बाएं घुटने पर गिरना सौभाग्य की हानि है।

–  दाएं पैर व दाईं एड़ी पर छिपकली गिरना यानी यात्रा से लाभ मिलता है। बाएं पैर या बाईं एड़ी पर गिरने से बीमारी या घर में कलह होगी तथा दुख होगा।

–  दाएं पैर के तलवे पर छिपकली गिरने का मतलब ऐश्वर्य की प्राप्ति है। जबकि बाएं पैर के तलवे पर गिरने पर व्यापार में नुकसान उठाना पड़ता है।

नए घर में प्रवेश करते समय यदि गुहस्वामी को छिपकली मरी हुई व मिट्टी लगी हुई दिखाई दे तो उसमें निवास करने वाले लोग रोगी हो सकते हैं। इस अपशकुन से बचने के लिए पूरे विधि विधान से पूजन करने के बाद ही नए घर में प्रवेश करना चाहिए।

अगर छिपकली लड़ती दिखे तो किसी दूसरे से झगड़ा संभव है ओर अलग होती दिखे तो किसी प्रियजन से बिछुड़ने का दुख सहन करना पड़ सकता है।

शकुन शास्त्र के अनुसार दिन में भोजन करते समय यदि छिपकली का बोलना सुनाई दे शीध्र ही कोई शुभ समाचार मिल सकता है या फिर कोई शुभ फल प्राप्त हो सकता है। हांलाकि ये घटना बहुत कम होती है क्योंकि छिपकली अघिकांश रात के समय बोलती हैं।

छिपकली अगर माथे पर गिरती है तो संपत्ति मिलने की संभावना बढ़ जाती है।

यदि छिपकली आपके बालों पर गिरती है, इसका मतलब मृत्यु सामने खड़ी है।

दाहिने कान पर छिपकली का गिरना यानी आभूषण की प्राप्ति होगी। बाएं कान पर छिपकली का गिरना यानी आयु वृद्धि

नाक पर छिपकली गिरना यानी जल्द भाग्योदय होगा।

मुख पर छिपकली गिरना मधुर भोजन की प्राप्ति होगी।

बाएं गाल पर छिपकली गिरना यानी पुराने मित्र से मुलाकात होगी। दाहिने गाल पर छिपकली गिरना यानी आपकी उम्र बढ़ेगी।

गर्दन पर छिपकली गिरने का मतलब यश की प्राप्ति होगी।

दाढ़ी पर छिपकली गिरने का मतलब आपके सामने जल्द ही कोई भयावह घटना हो सकती है।

मूंछ पर छिपकली गिरना यानी सम्मापन की प्राप्ति।

भौंह पर छिपकली गिरना यानी धन हानि।

दाहिनी आंख पर छिपकली गिरने का मतलब किसी दोस्त से मुलाकात होगी। बांई आंख पर छिपकली गिरने का मतलब जल्द ही कोई बड़ी हानि होगी।

छाती के दाहिनी ओर छिपकली गिरने से जल्द ही ढ़ेर सारी खुशियां मिलती हैं जबकि बांई ओर गिरने से घर में ज्यादा क्लेश होता है।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
मनोरंजन5 mins ago

Laal Singh Chaddha Box Office Day 8:शाहरुख की ज़ीरो से भी बड़ी फ्लॉप साबित होने जा रही लाल सिंह चड्डा, आठवें दिन तो ढूंढने पर भी थियेटरों में नहीं मिले दर्शक

मनोरंजन16 mins ago

Sapna Chaudhary: हरियाणवी डांसर सपना ने अपनी मां के कहने पर पहनना शुरु किया था सूट, आज इनके लुक्स को देखकर हर कोई हो जाता है फिदा

देश34 mins ago

Find A Face: आपकी आंखों के सामने छिपा है एक चेहरा, पहचानो तो जानें… ढूंढने में बड़े-बड़े लोगों के छूटे पसीने

देश1 hour ago

CBI Raid at Manish Sisodia’s House: इधर मनीष सिसोदिया के घर पड़ा CBI का छापा, उधर बौखलाए CM केजरीवाल ने कह दी ये बात

देश1 hour ago

Bihar: कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह के बाद अब विवादों में तेजप्रताप यादव, जीजा शैलेश कुमार को साथ लेकर कर रहे विभाग की बैठक

मनोरंजन2 weeks ago

Boycott Laal Singh Chaddha: क्या Mukesh Khanna ने Aamir Khan की फिल्म के बॉयकॉट का किया समर्थन, बोले-अभिव्यक्ति की आजादी सिर्फ मुस्लिमों के पास है, हिन्दुओं के पास नहीं

मनोरंजन5 days ago

Karthikeya 2 Review: वेद-पुराणों का बखान करती इस फ़िल्म ने लाल सिंह चड्डा के उड़ाए होश, बॉक्स ऑफिस पर खूब बरस रहे पैसे

दुनिया3 weeks ago

Saudi Temple: सऊदी अरब में मिला 8000 साल पुराना मंदिर और यज्ञ की वेदी, जानिए किस देवता की होती थी पूजा

milind soman
मनोरंजन2 weeks ago

Milind Soman On Aamir Khan: ‘क्या हमें उकसा रहे हो…’; आमिर के समर्थन में उतरे मिलिंद सोमन, तो भड़के लोग, अब ट्विटर पर मिल रहे ऐसे रिएक्शन

मनोरंजन1 week ago

Mukesh Khanna: ‘पति तो पति, पत्नी बाप रे बाप!..’,रत्ना पाठक के करवाचौथ पर दिए बयान पर मुकेश खन्ना की खरी-खरी, नसीरुद्दीन शाह को भी लपेटा

Advertisement