कपड़ों पर आते ही मर जाएगा कोरोना वायरस, शोध ने सुझाई तकनीक

शोधकर्ताओं ने एक करेंट पैदा करने वाला कपड़ा बनाया है। इससे कपड़े पर लगे वायरस उस करेंट से मर जाएंगे और वे संक्रमण फैलाने से पहले ही कपड़े को वायरस मुक्त कर देंगे।

Written by: May 25, 2020 4:23 pm

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच इसके वैक्सीन को लेकर तमाम तरह के ट्रायल किए जा रहे हैं लेकिन अभी इसका इलाज निकालने में सफलता नहीं मिली है। हालांकि इसके विस्तार को रोकने के लिए मास्क काफी अहम है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सिर्फ हाथों को धोते रहना ही नहीं बल्कि कपड़ो को लेकर भी काफी ख्याल रखा जाता है। एक नए शोध में कपड़ों से संक्रमण न फैले इसका समाधान सुझाया है।

N95 Mask

अमेरिका इंडियाना यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने अपने प्रस्तावित शोधपत्र में एक ऐसे कपड़े के बारे में सलाह दी है जिससे कोरोनावायरस का संक्रमण संपर्क से नहीं फैल सकता है। हालांकि इसको लेकर कोई साफ जानकारी नहीं है कि यह वायरस कपड़ों पर कितनी देर तक रह पाता है और संक्रमण करने में सक्षम रहता है। लेकिन कपड़ों से संक्रमण नहीं होगा यह बात सभी शोधकर्ता गलत ही मानते हैं।

इस शोध में वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर कपड़े में एक इलेक्ट्रिक फील्ड पैदा कर दी जाए तो उसमें लगे वायरस खत्म हो सकते हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि वायरस कपड़ों पर दो दिन तक खत्म हो सकता है। लेकिन काफी कुछ तापमान और कपड़े और उसके आसपास की नमी पर भी निर्भर करता है। फिर भी इससे स्वास्थ्यकर्मियों के कपड़े या उनकी PPE किट से संक्रमण का खतरे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

इस शोध में शोधकर्ताओं ने इलेक्ट्रोस्टेटिक बल का कोरोना वायरस पर प्रभाव का अध्ययन किया। इसमें शोधकर्ताओं ने इलेक्ट्रोस्यूटिकल्स के तहत यह अध्ययन किया है। इलेक्ट्रोस्यूटिकल्स में एक इंसानों को नुकासान न पहुंचाने वाली कमजोर इलेक्ट्रिक फील्ड का उपयोग कुछ बीमारियों को ठीक करने के लिए  किया जाता है।

srilanka corona virus

शोधकर्ताओं ने एक करेंट पैदा करने वाला कपड़ा बनाया है। इससे कपड़े पर लगे वायरस उस करेंट से मर जाएंगे और वे संक्रमण फैलाने से पहले ही कपड़े को वायरस मुक्त कर देंगे। इस शोध के प्रमुख लेखक और इंडियाना सेंटर फॉर रीजनरेटिव मेडिसिन एंड इंजिनियरिंग के निदेशक चंदन सेन और उनके साथियों ने इलेक्ट्रोस्यूटिकल कपड़ों की PPE किट के लिए अधिक उपयोगी बताया है।