15 जुलाई से पहले घोषित होंगे CBSE और ICSE के रिजल्ट्स, जानें पूरा मामला

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीएसई बोर्ड एग्जाम को लेकर नया हलफनामा पेश कर दिया है। नए हलफनामे में साफ किया गया है कि सीबीएसई और आईसीएसई दोनों के नतीजे 15 जुलाई से पहले घोषित कर दिए जाएंगे।

Written by: June 26, 2020 12:53 pm

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीएसई बोर्ड एग्जाम को लेकर नया हलफनामा पेश कर दिया है। नए हलफनामे में साफ किया गया है कि सीबीएसई और आईसीएसई दोनों के नतीजे 15 जुलाई से पहले घोषित कर दिए जाएंगे। हलफनामे में उन सारी बातों को स्पष्ट करने की कोशिश की गई है, जिन पर गुरुवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने ऐतराज जताया था।

सीबीएसई के मुताबिक सीबीएसई की हलफनामे को मंजूर करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड को नोटिफिकेशन जारी करने की अनुमति दे दी है। इसी के साथ इस बात पर मुहर भी लग गई कि 1 से 15 जुलाई को होने वाली सीबीएसई की परीक्षाएं अब रद्द कर दी गईं हैं। बता दें कि अब नतीजे तीन पेपर के मूल्यांकन के आधार पर जारी होंगे और इसी आधार पर स्टूडेंट्स दाखिला ले सकते हैं। 12वीं क्लास के स्टूडेंट्स बाद में एग्जाम दे सकते हैं। अगर वे ऐसा विकल्प चुनते हैं तो परीक्षा में हासिल किए गए नंबर ही फाइनल होंगे। असेस्मेंट के नंबर नहीं जुड़ेंगे।

cbse boad

जानें हलफनामे में क्या है खास

एसजी ने कोर्ट में कहा कि 12वीं के वैकल्पिक एग्जाम को लेकर अभी कोई वक्त नहीं बता सकते। अगर हालात ठीक नहीं हुए तो कोई एग्जाम नहीं होगा। अगर सामान्य हालात होने पर एग्जाम कराएंगे तो स्टूडेंट्स को नोटिफिकेशन जारी कर दो हफ्ते का समय देंगे ताकि वे एग्जाम देने का विकल्प चुन सकें। 12वीं के जो छात्र 15 जुलाई तक आने वाले नतीजे से खुश होंगे उनके लिए एग्जाम जरूरी नहीं होगा। लेकिन जो छात्र असेस्मेंट के नंबर से खुश नहीं होंगे या और बेहतर करना चाहते हैं वह एग्जाम से सकते है। जो भी छात्र एग्जाम देंगे उनका एग्जाम वाले नंबर ही अंतिम माने जाएंगे। असेस्मेंट के नंबर नहीं जुड़ेंगे।

icse

जानें आईसीएससी बोर्ड का हाल

आईसीएएसी ने भी सुप्रीम कोर्ट को बताया कि वो बाद में दसवीं के स्टूडेंट्स को एग्जाम देने का विकल्प दे सकता है। बता दें कि आईसीएससी का औसत नंबर फॉर्मूला सीबीएसई से अलग होता है। आईसीएसई आने वाले हफ्ते में अपना औसत अंक का फॉर्मूला वेबसाइट पर उपलब्ध कराएगी। इस बोर्ड का औसत अंक देने का फार्मूला सीबीएसई से थोड़ा अलग है। दोनों बोर्ड यानी सीबीएसई और आईसीएसई जुलाई मध्य तक परीक्षा परिणाम जारी करने पर सहमत हैं।