डीयू लीडरशिप समिट शुरू, स्मृति ईरानी, सुब्रमण्यम स्वामी करेंगे संबोधन

वर्चुअल समिट में छात्रों की वर्तमान परिस्थिति में भूमिका, साहित्य, खेल, दिव्यांगों के सामने वर्तमान समय की चुनौतियां तथा आगे का रास्ता, महिलाओं की वैश्विक बदलाव में बड़ी भूमिका, अर्थव्यवस्था आदि विषयों पर छात्रों को वक्ता संबोधित करेंगे।

Written by: June 28, 2020 4:38 pm

नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ की ओर से आयोजित 3 दिवसीय वर्चुअल डीयू लीडरशिप समिट में दस हजार से अधिक छात्र हिस्सा ले रहे हैं। 28 से 30 जून तक चलने वाले इस लीडरशिप समिट को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी, पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु, इंफोसिंस संस्थापक एनआर नारायणमूर्ति आदि प्रमुख लोग संबोधित करेंगे।

delhi-university
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने रविवार को समिट का शुभारंभ करते हुए कहा कि मौजूदा समय में बदली हुई परिस्थितियों के अनुसार छात्रों को नए तरीकों को अपनाकर आगे बढ़ना होगा। हमारे सामने कई बड़ी चुनौतियां हैं लेकिन छात्रों की शक्ति और साहस के दम पर उन चुनौतियों को पार किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि भारत एक बड़ी युवा आबादी वाला देश है और सभी जिम्मेदारों को यह सुनिश्चित करना होगा कि इस युवा आबादी से निकलने वाला जनसांख्यिकीय लाभांश देश तथा विश्व को समृद्धि की नई ऊंचाइयों पर ले जा सके। आज प्रत्येक क्षेत्र में छात्रों, युवाओं का नेतृत्व विकसित करने तथा युवाओं को उचित प्लेटफार्म उपलब्ध कराने की जरूरत है।

smriti irani on photo

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ के मुताबिक, किसी भी शैक्षिक संस्थान की तरफ से इतने बड़े पैमाने पर होने वाला यह पहला वर्चुअल सम्मेलन है। इस सम्मेलन के लिए 15 हजार छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। फिलहाल दस हजार छात्र सभी सत्रों में हिस्सा ले रहे हैं। इस सम्मेलन में 29 जून को इंफोसिस संस्थापक नारायणमूर्ति, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, पहलवान योगेश्वर दत्त और 30 जून को पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु और सुब्रमण्यम स्वामी विद्यार्थियों को संबोधित करेंगे।

Subramanyan swami
वर्चुअल समिट में छात्रों की वर्तमान परिस्थिति में भूमिका, साहित्य, खेल, दिव्यांगों के सामने वर्तमान समय की चुनौतियां तथा आगे का रास्ता, महिलाओं की वैश्विक बदलाव में बड़ी भूमिका, अर्थव्यवस्था आदि विषयों पर छात्रों को वक्ता संबोधित करेंगे।

डूसू अध्यक्ष अक्षित दहिया, डूसू उपाध्यक्ष प्रदीप तंवर और डूसू सह सचिव शिवांगी खरवाल ने कहा कि इस वर्चुअल समिट के माध्यम से हम वर्तमान उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से छात्रों के सामने विभिन्न विषयों पर विचार विमर्श करके एक बेहतर निष्कर्ष की तरफ आगे बढ़ेंगे। यह अपने आप में पहली तरह की वर्चुअल लीडरशिप समिट है और छात्रों ने इस लीडरशिप समिट में भाग लेने के लिए बड़ा उत्साह दिखाया है।