Connect with us

मनोरंजन

Richa Chadha Controversy: ऋचा चड्ढा ने किया सेना का अपमान, अली फज़ल ने “सीएए विरोध” का किया था समर्थन अब बॉयकॉट और तेज़

Richa Chadha Controversy: इस बार ऋचा चड्ढा के बयान ने, गंभीर रुख अख्तियार कर लिया है और माफ़ी मांगने के बाद भी दर्शक ऋचा चड्ढा को माफ़ करने के लिए तैयार नहीं हैं।

Published

on

नई दिल्ली। ऋचा चड्ढा (Richa Chadha) वाला विवाद (Richa Chadha Controversy) थमता नहीं दिख रहा है। लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है और ऐसा लग रहा है कि ये विवाद अभी और भी तूल पकड़ेगा। दर्शक, ऋचा चड्ढा के बयान पर खफा हैं और लगातार बॉयकॉट बॉलीवुड (Boycott Bollywood) और ऋचा चड्ढा की फिल्म फुकरे 3 का बहिस्कार (Boycott Fukre 3) कर रहे हैं। ऋचा चड्ढा ने जिस तरफ का ट्वीट सेना के जवानों के प्रति किया है, उनकी आने वाली फिल्म, मुश्किलों में पड़ने वाली हैं। पहले ही दर्शक ऋचा चड्ढा के बयानों से खफा रहते थे। हालांकि एक तबका उन्हें बेबाक, खुले विचारों वाली कलाकार, मानता है| लेकिन एक बड़ा दर्शक वर्ग ऋचा चड्ढा के बयानों से खफा रहता है। लेकिन इस बार ऋचा चड्ढा के बयान ने, गंभीर रुख अख्तियार कर लिया है और माफ़ी मांगने के बाद भी दर्शक ऋचा चड्ढा को माफ़ करने के लिए तैयार नहीं हैं।

ऋचा चड्ढा के इस बयान पर द जयपुर डायलॉग चलाने वाले संजय दीक्षित का बयान भी आ गया है। संजय दीक्षित एक रिटायर्ड आई.ए.एस ऑफिसर हैं और उन्होंने इतिहास पर किताब भी लिखी है। संजय दीक्षित का कहना है कि ऋचा चड्ढा ने जो बात की है वो भारतीय सेना का अपमान है, और इस कारण से ऋचा चड्ढा का और भी विरोध होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो शिकायत पुलिस में दर्ज़ हो रही हैं वो भी होनी चाहिए, उनमें कुछ गलत नहीं है। आपको बता दें डायरेक्टर अशोक पंडित ने ऋचा चड्ढा के खिलाफ कानूनी शिकायत दर्ज़ की है।

संजय दीक्षित का कहना है आज से 10 साल पहले इन्होने एक फिल्म में मां का किरदार निभाया था जिसके बाद इन्हें इक्का दुक्का ही फिल्म मिलती है। वहीं अली फज़ल को भी कोई ख़ास फिल्म नहीं मिलती हैं। संजय दीक्षित अपने वीडियो में बताते हैं कि अली फज़ल सीएए के बहुत हिमायती थे। उन्हें सीएए बहुत पसंद था। अली फज़ल ने सीएए को लेकर कहा था कि शुरुआत में तो सीएए का विरोध यूं ही शुरू हुआ था, लेकिन अब इस विरोध में मज़ा आने लगा है। ऋचा चड्ढा, अली फज़ल की पत्नी हैं और इसलिए ऋचा चड्ढा की तरफ से सेना को अपमान करने की बात सामने आ रही है। संजय दीक्षित कहते हैं ऐसे में इन्हें पुरजोर तरीके से बॉयकॉट करना चाहिए, जिससे इन्हें काम मिलना बंद हो जाए।

उनका कहना है कि जो भी देश विरोधी बातें करेगा, जो हमारे आराध्य का अपमान करेगा, उसके खिलाफ बॉयकॉट की आवाज़ जरूर उठनी चाहिए। ऋचा चड्ढा को इस विरोध के बाद, याद आना चाहिए कि वो आगे कभी ऐसी आवाज़ें, उठा न पाएं। संजय दीक्षित का मानना है कि ये लोग देश का अपमान इसलिए करते हैं, ताकि ये चर्चा में बने रहे और इनकी कमाई होती रहे | देश की जनता का काम है इसके खिलाफ इनका विरोध करना।

Advertisement
Advertisement
Advertisement