बीजेपी और AAP के बीच वीडियो वॉर,केजरीवाल को भेजा गया 500 करोड़ का नोटिस

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आर रही है वैसे-वैसे ही चुनावी सरगर्मी भी तेज होती जा रही है। इसी बीच आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के बीच एक वीडियो वॉर जारी है।

Written by: January 13, 2020 2:28 pm

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आर रही है वैसे-वैसे ही चुनावी सरगर्मी भी तेज होती जा रही है। इसी बीच आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी  के बीच एक वीडियो वॉर जारी है। बता दें, आम आदमी पार्टी और बीजेपी एक-दूसरे पर वीडियो बनाकर हमले कर रही हैं। हाल ही आम आदमी पार्टी के थीम सॉन्ग ‘लगे रहो केजरीवाल’ में दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी को दिखाने पर बवाल इतना बढ़ गया कि तिवारी ने चुनाव आयोग से इस गाने पर रोक लगाने की मांग की है।

इतना ही नहीं आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल  को 500 करोड़ की मानहानि का नोटिस भी भेजा गया है। जिस वीडियो से नाराज होकर बीजेपी ने केजरीवाल को 500 करोड़ के हर्जाने का नोटिस भिजवाया है। उस वीडियो में कैंपेन तो आम आदमी पार्टी का ही बज रहा है लेकिन वीडियो दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी की भोजपुरी फिल्मों के इस्तेमाल किए गए हैं।


वीडियो के जरिए एक-दूसरे पर निशाना साधने के इस दौर ने बीते एक हफ्ते से ज्यादा जोर पकड़ रखा है। सबसे पहले 8 जनवरी को आम आदमी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक सीमेंट कंपनी का पुराना एड डालकर उसमें एडटिंग की थी। इस वीडियो में बीजेपी-कांग्रेस को सहयोगी बताया गया है तो वहीं AAP के काम की तुलना उस मजबूत दीवार से कई गई है जिसे ये दोनों पार्टियां मिलकर भी नहीं तोड़ पा रही हैं। आम आदमी पार्टी ने इस वीडियो के जरिए उप राज्यपाल पर भी निशाना जिनपर बीजेपी की मदद करने का आरोप लगाया गया है।


वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के इस वीडियो के अगले ही दिन दिल्ली बीजेपी ने भी पटलवार करते हुए इसी एड को अपने मुताबिक एडिट कर के ट्विटर पर शेयर किया। इसमें बीजेपी ने AAP को ‘टुकड़े-टुकड़ गैंग’ का सहयोगी बताया है। इस वीडियो में बीजेपी ने अरविंद केजरीवाल और कन्हैया कुमार को मिलकर राष्ट्रवाद की दीवार तोड़ने की कोशिश करते दिखाया है। साथ ही जेएनयू और जामिया की हिंसा को मुद्दा बनाकर केजरीवाल पर निशाना साधने की कोशिश की गई है।


इसके बाद दिल्ली बीजेपी के ट्विटर हैंडल पर 10 जनवरी को एक वीडियो ट्वीट किया गया। इस वीडियो में एक टीवी प्रोग्राम के जरिए केजरीवाल की तरह दिखने वाले एक शख्स को अपनी ही सरकार की पोल खोलते दिखाया गया है। इंटरव्यू की शक्ल वाले इस वीडियो में प्रश्नकर्ता उस शख्स से AAP के वादों से जुड़े सवाल कर रहा है जिसमें जवाब देने वाला शख्स खुद को सरकार चलाने में नाकाम बता रहा है।


दिल्ली बीजेपी और आम आदमी पार्टी के वीडियो वॉर का हालिया नमूना AAP के थीम सॉन्ग का वह वीडियो है जिसके ऑडियो पर मनोज तिवारी के पुराने फिल्मी सीन दर्शाए गए हैं। इस वीडियो में मनोज तिवारी को AAP के थीम सॉन्ग पर डांस करते दिखाया गया है और इसके लिए उनके पुराने एलबम के सीन को एडिट किया गया है।

इसी वीडियो के बाद मनोज तिवारी की ओर चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई है। इसके लिए तिवारी की ओर से 500 करोड़ का हर्जाना भी मांगा गया है। उन्होंने इस वीडियो पर कहा कि आम आदमी पार्टी को अपने प्रचार सॉन्ग में मेरे वीडियो इस्तेमाल करने का हक किसने दिया।