Connect with us

देश

VIDEO: ‘PFI के खिलाफ ANI जांच कर रही है’, कार्रवाई से भड़के मौलाना ने ये क्या कह दिया, सोशल मीडिया पर जमकर लिए लोगों ने मजे

दरअसल, इस वीडियो में पीएफआई के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद एक मौलाना इस कदर भड़क गए कि उन्हें एएनआई और एनआईए के बीच फर्क मालूम ही नहीं पड़ा। लिहाजा उन्होंने कह दिया कि पीएफआई के खिलाफ एएनआई ने कार्रवाई की है, जिसके बाद अब इस मौलाना का खूब मजाक उड़ाया जा रहा है।

Published

on

नई दिल्ली। देश विरोधी गतिविधियों में कथित तौर पर संलिप्त पीएफआई को पांच राज्यों में बैन कर दिया गया है। जिसके बाद मुस्लिम मौलानाओं की तरफ से तीखी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। इसी कड़ी में एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है। लोग इस वीडियो को सुनने के बाद अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे हैं। जाहिर है कि सोशल मीडिया पर अब इस वीडियो का खूब मजाक बनाया जा रहा है। आइए, हम आपको वो वीडियो दिखाएं, उससे पहले पूरा माजरा जरा तफसील से समझते हैं।

क्‍या है PFI और क्‍यों हो रही है इस कट्‍टरपंथी संगठन की चर्चा?

जानें पूरा माजरा

दरअसल, इस वीडियो में पीएफआई के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद एक मौलाना इस कदर भड़क गए कि उन्हें एएनआई और एनआईए के बीच फर्क मालूम ही नहीं पड़ा। लिहाजा उन्होंने कह दिया कि पीएफआई के खिलाफ एएनआई ने कार्रवाई की है, जिसके बाद अब इस मौलाना का खूब मजाक उड़ाया जा रहा है। आगे हम आपको वीडियो को लेकर आए लोगों की हास्यास्पद प्रतिक्रियाओं के बारे में विस्तार से बताएं। उससे पहले आप यह जान लीजिए कि एएनआई एक न्यूज एजेंसी है, जबकि एनआईए एक जांच एजेंसी है। ANI जहां खबरों को मीडिया संस्थानों तक पहुंचाने का काम करती है, तो वहीं NIA राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मसलों की  जांच  करता है। लेकिन, वीडियो में मौलाना ने जिस तरह से कहा कि पीएफआई के खिलाफ ANI ने कार्रवाई की है, उसे लेकर उनका मजाक उड़ाया जा रहा है। बहरहाल, बतौर पाठक आपका इस पूरे मसले पर क्या कुछ कहना है। आप हमें कमेंट कर बताना बिल्कुल भी मत भूलिएगा। लेकिन, आइए उससे पहले हम आपको इस पूरे मसले पर आए लोगों की हास्यास्पद प्रतिक्रियाओं के बारे में विस्तार से बताते हैं।

यहां देखिए लोगों की प्रतिक्रियाएं

 पीएफआई के खिलाफ एक्शन

आपको बता दें कि पीएफआई के खिलाफ लगातार एक्शन जारी है। बीते कुछ दिनों पहले उक्त संगठन के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले के तहत ईडी और सीबीआई ने छापेमारी की थी। जिसके बाद बीते बुधवार को पीएफआई को बैन कर दिया गया है। इस संगठन के तार अंतरराष्ट्रीय संगठनों से भी जुड़े बताए जा रहे हैं। कई देश विरोधी गतिविधियों में भी उक्त संगठन के शामिल होने की खबरें प्रकाश में आई है। अब आगामी दिनों में उक्त संगठन के खिलाफ क्या कुछ कार्रवाई की जाती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement