महाराष्ट्र : एक और कैबिनेट मंत्री पाए गए कोरोना पॉजिटिव, 5 कर्मचारी भी संक्रमित

देश में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है। राज्य ने कोरोना के मामले में चीन को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में एक और कैबिनेट मंत्री के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की बात सामने आई है। इतना ही नहीं मंत्री के पांच निजी कर्मचारियों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है।

Avatar Written by: June 12, 2020 8:30 am

मुंबई। देश में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है। राज्य ने कोरोना के मामले में चीन को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में एक और कैबिनेट मंत्री के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की बात सामने आई है। महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री धनंजय मुंडे का कोविड टेस्ट पॉजिटिव आया है। इतना ही नहीं मंत्री के पांच निजी कर्मचारियों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है।

delhi corona

आपको बता दें कि वरिष्ठ एनसीपी नेता और महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार में कैबिनेट मंत्री धनंजय मुंडे कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इस तरह, मुंडे ठाकरे सरकार में संक्रमित होने वाले तीसरे मंत्री हो गए हैं। फिलहाल उनका इलाज चल रहा है। जानकारी के मुताबिक मंत्री के कर्मचारियों को फिलहाल आइसोलेशन में रखा गया है। उद्धव ठाकरे सरकार में दो मंत्री पहले ही कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, हालांकि, दोनों ही इस खतरनाक बीमारी से उबर चुके हैं।

cm Uddhav Thackrey

बताया गया है कि धनंजय मुंडे ने 10 जून को एनसीपी की वर्षगांठ समारोह में भाग लिया था। उस समय, वह एनसीपी के कई नेताओं के संपर्क में आए थे। धनंजय मुंडे परली के विधायक हैं। वह पिछले साल विधायक चुने गए थे। मुंडे ठाकरे सरकार में सामाजिक न्याय मंत्री का कार्यभार संभाल रहे हैं।

वहीं राज्य में लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दोबारा लॉकडाउन लगाने के संकेत दिए हैं। उनका कहना है कि राज्य सरकार स्थिति का अनुमान लगा रही है। अगर लगा कि छूट देना घातक हो सकता हैं, तो ऐसे में हमें एक बार फिर लॉकडाउन करना पड़ेगा।

mumbai corona

इतना ही नहीं महाराष्ट्र के सीएम ने चेतावनी दी है कि अगर नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो फिर से लॉकडाउन लागू किया जा सकता है। उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, ऐसे में अगर भीड़ का जुटना जारी रहा तो लॉकडाउन को अभी और आगे बढ़ाया जा सकता है। ढील दी गई है, इसे बर्बाद न करें।