खुशखबरी : देश को मिलने वाली है पहली कोरोना वैक्सीन, एस्ट्राजेनेका का तैयार किया हुआ है टीका

विश्व में कोरोना का कहर जारी है। इस बीच एक राहत की खबर सामने आ रही है। ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका (Oxford-AstraZeneca coronavirus vaccine) द्वारा बनाई जा रही वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को भारत अगले हफ्ते तक मंजूरी दे सकता है।

Avatar Written by: December 23, 2020 1:14 pm
AstraZeneca

नई दिल्ली। पूरी दुनिया कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर का सामना कर रही है। ऐसे में ब्रिटेन से एक बुरी खबर सामने आई है, वहां कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन की वजह से एक बार हालात और भी खराब होते जा रहे हैं। जो ना सिर्फ ब्रिटेन बल्कि पूरी दुनिया के लिए डराने वाली खबर है। हालांकि भारत में इसके मामले थोड़े कम आ रहे हैं लेकिन खतरा अभी भी टला नहीं है। ये नया स्ट्रेन 70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक है। ऐसे में सबकी नजरे कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) पर टिकी है। ऐसे में अब देश के लोगों को वैक्सीन के लिए ज्यादा लंबे समय तक इंतजार करने की जरूरत नहीं है।

corona vaccine

दरअसल, ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका (Oxford-AstraZeneca coronavirus vaccine) द्वारा बनाई जा रही वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को भारत अगले हफ्ते तक मंजूरी दे सकता है। क्योंकि कंपनी के स्थानीय निर्माता ने संबंधित अधिकारियों को अतिरिक्त डाटा जमा कर दिया गया है।

अगर इस वैक्सीन की मंजूरी मिल जाती है तो भारत ऐसा पहला देश होगा जो इस वैक्सीन का इस्तेमाल करेगा। ब्रिटिश ड्रग कंट्रोलर अभी भी इस वैक्सीन के परीक्षण के डाटा का अध्ययन कर रहे हैं। भारत अब अगले महीने से जनता को वैक्सीन देने की योजना बना रहा है। जो देश को लिए काफी बड़ी बात है।

corona vaccine

वैक्सीन को लेकर राहुल का मोदी से सवाल

देश में कोरोना वैक्सीन की तैयारियां आखिरी फेज में हैं। इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ”दुनिया में 23 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। चीन, अमेरिका और रूस में वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। भारत का नंबर कब आएगा, मोदी जी?”

पीएम मोदी का बयान

पीएम मोदी ने 4 दिसंबर को ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई थी। जहां कोरोना को लेकर चर्चा की गई। इसके बाद उन्होंने बताया कि कुछ हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार हो जाएगी, पहला टीका बीमार बुजुर्गों और हेल्थ वर्कर्स को लगाया जाएगा। इससे पहले 28 नवंबर को मोदी ने सीरम इंस्टीट्यूट समेत उन तीनों कंपनियों की फैसिलिटी का दौरा भी किया, जो देश में वैक्सीन बना रही हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost