Connect with us

देश

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर भड़के सूफ़ी धर्म गुरु तो वहीं पीएम मोदी की तारीफ़ करते हुए कही बड़ी बात

उन्होंने यहां तक कहा कि मुसलमान का अगर सबसे बड़ा दुश्मन है, तो वो कांग्रेस है। कांग्रेस ने कभी-भी मुसलमानों का भला नहीं चाहा है। सिर्फ और सिर्फ उनका इस्तेमाल किया है। यही नहीं, उन्होंने मुसलमानों से भारत जोड़ो यात्रा में शामिल नहीं होने की भी अपील की है।

Published

on

नई दिल्ली। जरा ध्यान दीजिएगा। इस लेख को पढ़ने के लिए आपने क्लिक तो कर दिया है, लेकिन अगर आप कांग्रेस प्रेमी हैं या राहुल गांधी आपके प्रिय नेता हैं, तो मांफी चाहेंगे, क्योंकि पूरी ख़बर पढ़ने के बाद आपको बुरा लग सकता है। हो सकता है कि आप हमें भी गरिया दें, तो इसलिए, जरा ध्यान दीजिएगा कि आवेश में आकर अपनी जुबां से हर्फों की दरिया ना बहा दें। अब आप इतना सबकुछ पढ़ने के बाद मन ही मन सोच रहे होंगे कि वो सब तो ठीक है, लेकिन आप हमें ऐसा क्या बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़ने के बाद हमको गुस्सा आ सकता है, तो चलिए अब हम आपको पूरा माजरा विस्तार से बताते हैं।

Rahul Gandhi News: महात्मा गांधी की हत्या का मुद्दा उठा राहुल बोले- विचारधारा की लड़ाई जारी, आगे आएं लोग - rahul gandhi says fight against ideology that killed mahatma gandhi continues -

राहुल गांधी के बारे में तो पता ही होगा आपको। आजकल कांग्रेस की डूबती नईया को तिनके का सहारा देने के लिए घूम-घूम कर भारत जोड़ो यात्रा कर रहे हैं। लेकिन, कांग्रेस की बदहाली राहुल गांधी से गुहार लगा रही है कि साहब भारत जोड़ना छोड़िए। पहले कांग्रेस जोड़िए। कांग्रेस अब अपनी बदहाली के सारे पैमाने ध्वस्त कर चुकी है और आप जो हैं कांग्रेस छोड़कर देश जोड़ने में लगे हुए हैं, लेकिन राहुल गांधी तो अपनी ही गाथा गाने में व्यस्त हैं। अब इसी बीच हरियाणा हज कमेटी के सदस्य व सूफी धर्म गुरु दरगाह हजरत ख्वाजा शमसुद्दीन तुर्क पानीपत शाह विलायत के सज्जादानशीन सैयद मेराज हुसैन साबरी ने राहुल गांधी को आईना दिखा दिया। उन्होंने अपने आलोचकों की परवाह किए बगैर साफ कर दिया है कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो में शामिल होना हराम है।

Rahul Gandhi Bharat Jodo Yatra : सूफी धर्म गुरु ने लगाया जबानी फतवा। जागरण

उन्होंने यहां तक कहा कि मुसलमान का अगर सबसे बड़ा दुश्मन है, तो वो कांग्रेस है। कांग्रेस ने कभी-भी मुसलमानों का भला नहीं चाहा है। सिर्फ और सिर्फ उनका इस्तेमाल किया है। यही नहीं, उन्होंने मुसलमानों से भारत जोड़ो यात्रा में शामिल नहीं होने की भी अपील की है। इतना ही नहीं, सूफी ने पीएफआई पर हुई कार्रवाई का समर्थन किया है। उन्होंने खुद कहा कि पीएफआई पर जिस तरह से देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप लगे हैं, उसे देखते हुए यह कार्रवाई बिल्कुल उचित है। इस तरह के संगठन पर इस तरह के प्रतिबंध अनिवार्य हैं। बता दें कि पीएफआई पर हुई कार्रवाई का अब तक अधिकांश मुस्लिमों ने विरोध ही किया है। ऐसी स्थिति में सूफी का बयान सुर्खियों में रहना लाजिमी है।

टीचर्स डे: पीएम मोदी का ऐलान, PM-SHRI योजना के तहत अपग्रेड होंगे 14,500 स्कूल - teachers day pm modi says development and upgradation of 14500 schools across India under PM SHRI Yojana

पीएम मोदी के किए गुणगान

ध्यान रहे कि सूफी यही नहीं रुके। उन्होंने आगे पीएम मोदी की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि आज इस देश में अगर कोई कुशल शासक है, तो वो पीएम मोदी ही हैं। उनके कार्यकाल में आज देश विकास के नए कीर्तिमान गढ़ रहा है। इतना ही नहीं, सूफी ने आगे कहा कि पीएम मोदी सभी के प्रधानमंत्री हैं, चूंकि उनके प्रत्येक फैसले में राष्ट्र का हित निहित है। बहरहाल, अब तक कई मर्तबा देखा जा चुका है कि जिस किसी ने भी मुस्लिम समुदाय की ओर से पीएम मोदी की तारीफ की है, उसे फतवों का ही सामना करना पड़ा है। अब ऐसी स्थिति में मौलना के उक्त बयान को लेकर किस तरह किस तरह की प्रतिक्रिया सामने आती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। तब तक के लिए आप देश दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Advertisement
Advertisement
Advertisement