महात्मा गांधी पर हेगड़े के बयान से भाजपा नाराज, बिना शर्त माफी मांगने को कहा

सूत्रों के अनुसार  पार्टी नेतृत्व सांसद अनंत हेगड़े के महात्मा गांधी पर दिए गए बयान से बेहद खफा है और इस बयान की सत्यता परखने के बाद पार्टी के नेतृत्व ने उन्हें अपने बयान को वापस लेने और बिना शर्त माफी मांगने को कहा है।

Written by: February 3, 2020 3:02 pm

नई दिल्ली। कर्नाटक के उत्तरी कन्नड़ लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी सांसद अनंत हेगड़े के विवादित बयान से भाजपा नाराज है। सूत्रों के अनुसार  पार्टी नेतृत्व सांसद अनंत हेगड़े के महात्मा गांधी पर दिए गए बयान से बेहद खफा है और इस बयान की सत्यता परखने के बाद पार्टी के नेतृत्व ने उन्हें अपने बयान को वापस लेने और बिना शर्त माफी मांगने को कहा है। इसके अलावा पार्टी ने अपनी तरफ से संसद सत्र के दौरान होने वाली पार्लियामेंट्री पार्टी की बैठक में उनके आने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Anant kumar Hegde

बेंगलुरु में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अनंत हेगड़े ने सवाल उठाया कि कैसे ‘ऐसे लोग’ भारत में महात्मा पुकारे जाते हैं। उन्होंने कहा, ‘पूरा स्वतंत्रता आंदोलन अंग्रेजों की सहमति और समर्थन से खेला गया एक बड़ा ड्रामा था। सत्याग्रह और भूख हड़ताल भी ड्रामा था। ये तथाकथित नेता एक बार भी पुलिस द्वारा नहीं पीटे गए।’

Anant kumar Hegde

हेगड़े ने कहा कि यह वास्तविक लड़ाई नहीं बल्कि तालमेल से किया स्वतंत्रता आंदोलन था। उन्होंने कहा कि लोग कांग्रेस का यह कहते हुए समर्थन करते हैं कि अनशन और सत्याग्रह के कारण देश को आजादी मिली, लेकिन यह सत्य नहीं है। ब्रिटिश शासक सत्याग्रह नहीं बल्कि निराशा और कुंठा के कारण देश छोड़कर गए।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर टिप्पणियों के लिए भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े पर कांग्रेस ने प्रहार किया है। कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा कि भाजपा का नाम नाथूराम गोडसे पार्टी रखा जाना चाहिए।

Jaiveer Shergill

शेरगिल ने कहा, “महात्मा गांधी को देशप्रेम का सर्टिफिकेट उस पार्टी से नहीं चाहिए, जो गोरों की सरकार के चमचे थे। भाजपा को अपना नाम बदलकर नाथूराम गोडसे पार्टी रख लेना चाहिए।”