Connect with us

देश

खत्म हुआ किसान संगठनों का चक्का जाम, इस राज्य में दिखा ज्यादा असर लेकिन बाकी जगह रहा ‘बेअसर’

Chakka Jam: राकेश टिकैत(Rakesh Tikait) ने कहा कि, सरकार कृषि क़ानूनों को वापस ले और MSP पर क़ानून बनाए नहीं तो आंदोलन जारी रहेगा। हम पूरे देश में यात्राएं करेंगे और पूरे देश में आंदोलन होगा।

Published

Chakka Jam pic

नई दिल्ली। 6 फरवरी को किसान संगठनों द्वारा बुलाया गया चक्का जाम शांतिपूर्ण तरीके से खत्म हो गया है। इसको लेकर खबर सामने आई है कि इस चक्का जाम का असर पूरे भारत में कम ही देखने को मिला। वहीं हरियाणा और पंजाब ऐसे राज्य रहे जहां इसका असर सबसे अधिक देखने को मिला। बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को चक्का जाम को लेकर जानकारी देते हुए राकेश टिकैत ने कहा था कि, ‘6 फरवरी को देशभर में चक्का जाम (Chakka Jam) करेंगे लेकिन इसमें उत्तर प्रदेश, दिल्ली और उत्तराखंड जैसे राज्य शामिल नहीं होंगे।’ यूपी, उत्तराखंड में चक्का जाम ना होने की वजह को लेकर टिकैत ने कहा था कि, “हमारे पुास पुख्ता सबूत थे कि कल कुछ लोग चक्का जाम के दौरान हिंसा फैलाने की कोशिश करते। हमारे पास पक्की रिपोर्ट थी। हमने जनहित को देखते हुए उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश को कल होने वाले चक्का जाम से अलग रखा है।”

Chakka Jam

बता दें कि शनिवार बुलाया गया चक्का जाम दोपहर 12 बजे से शाम 3 बजे तक रहा। इस दौरान देश कई हिस्सों में चक्का जाम की हलचल तो देखने को मिली लेकिन उस तरीके से चक्का जाम का असर नहीं दिखा, जिसकी उम्मीद किसान संगठनों ने लगाई थी। वो भी तब जब इस चक्का जाम को देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस ने भी समर्थन दिया था। गौरतलब है कि देश में हरियाणा और पंजाब ऐसे राज्य रहे, जहां चक्का जाम का असर अधिक रहा और बाकी जगहों पर इसका असर मिला जुला दिखा। वहीं भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने चक्का जाम का समय खत्म होने के बाद किसानों को संबोधित करते हुए देशभर में किसान आंदोलन जारी रहने की बात एक बार फिर से दोहराई। उन्होंने कहा कि सरकार को किसानों से नहीं व्यापारियों से लगाव है। उन्होंने दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कहा कि राजधानी में एक-एक कील काटी जाएगी।

Delhi Chakka Jam

चक्का जाम को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि आज चक्का जाम हर जगह शांतिपूर्ण ढंग से किया जा रहा है। अगर कोई भी अप्रिय घटना होती है तो दंड दिया जाएगा। वहीं तीन बजते ही पानीपत टोल प्लाजा जब खुला तो सारी गाड़िया हॉर्न बजाकर प्रदर्शन को सफल बताने का संदेश देते निकले।

राकेश टिकैत ने कहा कि, सरकार कृषि क़ानूनों को वापस ले और MSP पर क़ानून बनाए नहीं तो आंदोलन जारी रहेगा। हम पूरे देश में यात्राएं करेंगे और पूरे देश में आंदोलन होगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement