दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों के लिए भावुक हुए सीएम योगी, जो बाकी रह गए हैं, उनकी वापसी के लिए तैयार किया रोड मैप

उन्होंने कहा कि संबंधित राज्यों की सरकारों से संपर्क कर सभी को घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की विस्तृत कार्य योजना तैयार हो रही है, इसलिए जहां हैं, वहीं रहें। राज्य सरकारों के संपर्क में रहें, पैदल ना चलें। साथ ही उनकी घर वापसी के लिए यूपी सरकार ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर यूपी के कामगारों और श्रमिकों का विस्तृत ब्यौरा भी मांगा है।

Written by: April 30, 2020 12:39 pm

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे प्रदेशों में फंसे यूपी के मजदूरों के लिए वापसी का रोडमैप तैयार कर दिया है। टीम 11 की बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में देश के विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के कामगारों/ श्रमिकों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाने की योजना तैयार कर ली गयी है।

CM Yogi Meeting
इन कामगारों और श्रमिकों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की प्रक्रिया में उनके मेडिकल परीक्षण का भी इंतज़ाम किया गया है। सीएम योगी ने 6 लाख लोगों के लिए क्वारंटीन सेंटर, शेल्टर होम और कम्युनिटी किचन का प्रबंध किया है। सीएम योगी ने सभी राज्यों में फंसे यूपी के कामगारों और श्रमिकों से भावुक अपील भी की।

Lockdown
उन्होंने कहा कि संबंधित राज्यों की सरकारों से संपर्क कर सभी को घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की विस्तृत कार्य योजना तैयार हो रही है, इसलिए जहां हैं, वहीं रहें। राज्य सरकारों के संपर्क में रहें, पैदल ना चलें। साथ ही उनकी घर वापसी के लिए यूपी सरकार ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर यूपी के कामगारों और श्रमिकों का विस्तृत ब्यौरा भी मांगा है। उन सभी का नाम, पता, मोबाइल नंबर के साथ ही सभी की मेडिकल रिपोर्ट मांगी गई है। आज ही मध्यप्रदेश में फंसे यूपी के कामगार और श्रमिको की भी वापसी होगी।

Yogi adityanath

इससे पहले दिल्ली से 28- 29 मार्च को चार लाख, हरियाणा, राजस्थान से 50000 प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घर पहुंचाया जा चुका है। हाल ही में हरियाणा से 12000 प्रवासियों की यूपी में सुरक्षित वापसी कराई गई। राजस्थान के कोटा से 11500 छात्र मेडिकल जांच के बाद होम क्वारंटाइन कराए गए।उत्तर प्रदेश के प्रयागराज से ही 15000 छात्र प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में अपने घर भेजे गए।