Connect with us

देश

MP News: CM शिवराज को ‘ठंडी चाय’ पिलाने पर हंगामा, पहले नोटिस जारी फिर हुआ रद्द

Madhya Pradesh News: इस लेटर में लिखा है कि मुख्यमंत्री जी को उलब्ध कराई गई चाय का स्तर सही नहीं था एवं ठण्डी थी। परिणामत:जिला प्रशासन की अशोभनीय स्थिति निर्मित हुई एंव प्रोटोकॉल के अनुपालन में प्रश्नचिन्ह उद्भूत हुआ है। आपके द्वारा वीवीआई की व्यवस्था को हल्के में लिये जाने से उक्त स्थिति निर्मित हुई है एवं कोतही बरती गई है। जो प्रोटोकॉल के प्रावधानों के विपरीत होने से कदाचरण है।

Published

on

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) अक्सर किसी न किसी वजह से चर्चा में आ जाते हैं। कभी वो अपने गाने के अंदाज को लेकर, तो कभी भरी सभा में अधिकारियों को फटकार लगाते हुए सुर्खियों में आ जाते हैं। लेकिन इस बार सीएम शिवराज सिंह किसी और कारण से खबरों में बने हुए हैं। दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को ठंडी चाय पिलाने एक जूनियर अधिकारी को महंगा पड़ गया।इतना ही नहीं सीएम के स्वागत में गर्म चाय न पिलने की वजह से अधिकारी को कारण बताओं नोटिस भी जारी कर दिया है।

मामला 11 जुलाई का बताया जा रहा है। जब वो रीवा में दौरे पर थे। जहां वो खुजराहो एयरपोर्ट पर कुछ देर के लिए रूके हुए थे। इसी दौरान अधिकारी ने उन्हें ठंडी चाय परोस दी। जिसके बाद मुख्यमंत्री इतने खफा हो गए कि उन्होंने अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। राजनगर के एसडीएम ने अधिकारी के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया। हालांकि विवाद को बढ़ता देख उन्होंने नोटिस को रद्द करवा दिया। इस लेटर में लिखा है कि मुख्यमंत्री जी को उलब्ध कराई गई चाय का स्तर सही नहीं था एवं ठण्डी थी। परिणामत:जिला प्रशासन की अशोभनीय स्थिति निर्मित हुई एंव प्रोटोकॉल के अनुपालन में प्रश्नचिन्ह उद्भूत हुआ है। आपके द्वारा वीवीआई की व्यवस्था को हल्के में लिये जाने से उक्त स्थिति निर्मित हुई है एवं कोतही बरती गई है। जो प्रोटोकॉल के प्रावधानों के विपरीत होने से कदाचरण है।

कांग्रेस ने ली सीएम शिवराज पर चुटकी

वहीं मामला सामने आने के बाद सियासत भी तेज हो गई। कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने सीएम शिवराज सिंह पर तंज कसते हुए लिखा, भारी किरकिरी व कांग्रेस के विरोध के बाद छतरपुर के राजनगर में मामाजी को ठंडी चाय परोसने को लेकर एसडीएम द्वारा फ़ूड इंस्पेक्टर को दिया नोटिस कलेक्टर से किया निरस्त…।

Advertisement
Advertisement
Advertisement