कोविड-19 : अस्पतालों की सुदृढ़ व्यवस्था को लेकर दिल्ली सरकार ने कसी कमर, 5 सदस्यीय समिति गठित

दिल्ली सरकार ने कोविड​​-19 महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं संबंधी ढांचे में वृद्धि करने और अस्पतालों की समग्र तैयारियों को और सुदृढ़ करने के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है।

Avatar Written by: June 3, 2020 7:09 pm

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली में मंगलवार को कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए। मंगलवार को यहां 1298 नए मामले सामने आए हैं। दिल्ली में एक दिन में नए मामले सामने आने का यह रिकॉर्ड है। इसके साथ ही अब यहां कुल 22132 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं पिछले 24 घंटों में 497 मरीज ठीक हुए जिसके साथ ही अब तक कुल 9243 मरीज यहां ठीक हो चुके हैं।

दिल्ली सरकार ने कोविड​​-19 महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं संबंधी ढांचे में वृद्धि करने और अस्पतालों की समग्र तैयारियों को और सुदृढ़ करने के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। पैनल स्थापित करने का आदेश मंगलवार को जारी किया गया, जिस दिन दिल्ली में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 1,298 नए मामले सामने आए।

delhi covid Dedicated hospitals

दिल्ली सरकार के आदेश के अनुसार, समिति के सदस्यों में आईपी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ महेश वर्मा, जीटीबी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ सुनील कुमार, दिल्ली मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष डॉ अरुण गुप्ता, दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ आर के गुप्ता और मैक्स अस्पताल के समूह चिकित्सा निदेशक डॉ संदीप बुद्धिराजा शामिल हैं।

satyendra-jain

आदेश में कहा गया कि समिति कोविए-19 से निपटने के लिए स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में सुधार और अस्पतालों की समग्र तैयारी को मजबूत करने के लिए दिल्ली सरकार का मार्गदर्शन करेगी। महामारी को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने के लिए समिति उन क्षेत्रों में भी सरकार का मार्गदर्शन करेगी जिसमें इसके लिए बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की आवश्यकता है।

Arvind kejriwal PC

आदेश में कहा गया है कि पैनल को छह जून तक अपनी रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में मंगलवार को कोविड-19 के 1,298 नए मामले सामने आए, जिससे केंद्र शासित प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 22,000 को पार कर गई, जबकि संक्रमण के कारण अब तक 556 लोगों की मौत हो गई।