जब दीपक चौरसिया और सुधीर चौधरी एकसाथ पहुंचे शाहीन बाग तो वहां देखने को मिला कुछ ऐसा नजारा

इस घटना के बाद जहां कई बड़े पत्रकार दीपक चौरसिया के साथ खड़े दिखाई दिए तो वहीं कुछ ऐसे भी सामने आए जो दीपक चौरसिया की ही गलती निकालने में लगे रहे।

Written by: January 27, 2020 8:37 pm

नई दिल्ली। कुछ दिन पहले शाहीन बाग में रिपोर्टिंग करने पहुंचे न्यूज नेशन चैनल के वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया के साथ बदसलूकी हुई। इसके बाद सोशल मीडिया पर बहस छिड़ी कि क्या मीडियाकर्मियों के साथ ऐसी हरकत सही है? क्या प्रदर्शन के नाम पर हिंसा करना और मीडिया के कामों में अड़ंगे डालना सही है?

Deepak Chaurasia News Nation

आपको बता दें कि इस घटना के बाद जहां कई बड़े पत्रकार दीपक चौरसिया के साथ खड़े दिखाई दिए तो वहीं कुछ ऐसे भी सामने आए जो दीपक चौरसिया की ही गलती निकालने में लगे रहे। इन सबके बीच दीपक चौरसिया और जी न्यूज के एंकर सुधीर चौधरी एकसाथ सोमवार को एकबार फिर शाहीन बाग पहुंच गए।

Deepak Chaurasia tweet

दोनों ने वहां के लोगों से बात करने की कोशिश की लेकिन लोगों ने उनसे बात नहीं की और उनको वहां से चले जाने के लिए कहा। इसको लेकर दीपक चौरसिया ने अपने ट्विटर पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि, “टेलीविजन इतिहास में पहली बार दो बड़े टेलीविजन चैनल शाहीन बाग में लोकतंत्र और संविधान की रक्षा के लिए चल रहे आंदोलन को देखने गए! लेकिन वहाँ का नजारा ना तो लोकतांत्रिक था और ना ही संवैधानिक!”

वीडियो-

इसके अलावा सुधीर चौधरी ने इसको लेकर लिखा कि, “आज मैं और दीपक चौरसिया शाहीन बाग गए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम शाहीन बाघ में ‘Allowed’ नहीं हैं। रोकने के लिए पहली पंक्ति में महिलाओं को खड़ा कर दिया। पुरुष पीछे खड़े हो गए। नारेबाज़ी हुई। राजधानी में ये वो जगह है जहां पुलिस भी नहीं जा सकती।लोकतंत्र का मज़ाक़ है ये।

sudhir Chaudhry

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में करीब एक महीने से ज्यादा समय से सड़क को जाम कर किए जा रहे प्रदर्शन की रिपोर्टिंग करने पहुंचे वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया और उनके कैमरामैन पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया था। इतना ही नहीं हमलावरों ने कैमरा छीनकर उसे भी तोड़ दिया था।