Arms Worship: सिक्किम में शस्त्र पूजा कर गरजे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भारतीय जवानों को लेकर कही ये बात

Rajnath Singh: पिछले साल की बात करें तो तब ये पूजा फ्रांस(France) में हुई थी। जब राफेल फाइटर जेट(Fighter Jet) इंडिया को औपचारिक रूप से प्राप्त किया गया था। उन्होंने तिलक से विमान पर ओम बनाया और नारियल और फूल चढ़ाए थे।

Avatar Written by: October 25, 2020 11:22 am

नई दिल्ली। रविवार को दार्जिलिंग के सुकना युद्ध स्मारक पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दशहरे के दिन ‘शस्त्र पूजा’ किया। इस दौरान भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी उपस्थित रहें। दरअसल रक्षा मंत्री ने शनिवार को पश्चिम बंगाल और सिक्किम की दो दिवसीय यात्रा शुरू की है। शस्त्र पूजा दशहरे के समय के आसपास हिंदुओं द्वारा प्रतिवर्ष किया जाने वाला एक अनुष्ठान है। पिछले साल भी राजनाथ सिंह ने दशहरे के मौके पर इसी तरह का शस्त्र पूजन किया था।  ‘शस्त्र पूजा’ के बाद राजनाथ सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि, भारत चीन की सीमा पर जो तनाव चल रहा है भारत ये चाहता है कि तनाव खत्म हो,शांति स्थापित हो है लेकिन कभी-कभी नापाक हरकत होती रहती है। मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि हमारे सेना के जवान किसी भी सूरत में अपने भारत की एक इंच भी ज़मीन किसी दूसरे के हाथों में जाने नहीं देंगे।

Rajnath Singh Shastra Puja

पिछले साल फ्रांस में की थी पूजा

पिछले साल की बात करें तो तब ये पूजा फ्रांस में हुई थी। जब राफेल फाइटर जेट इंडिया को औपचारिक रूप से प्राप्त किया गया था। उन्होंने तिलक से विमान पर ओम बनाया और नारियल और फूल चढ़ाए थे। बता दें कि इस मौके पर सिक्किम में बीआरओ द्वारा निर्मित एक एक्सल रोड का ई-उद्घाटन करने के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, आज नेशनल हाईवे-310 के आंशिक वैकल्पिक मार्ग को, सिक्किम की जनता को समर्पित करते हुए मुझे बड़ी खुशी हो रही है। ‘गंगटोक’ से ‘नाथू-ला’ को जोड़ने वाला NH-310, पूर्वी सिक्किम के सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों की जीवन रेखा है।

Rajnath Singh Dashami

वैकल्पिक मार्ग NH-310 का ई-उद्घाटन

एक्सल रोड का ई-उद्घाटन करने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि, 19.35 किलोमीटर लम्बे वैक्लपिक एन. एच. 310 का निर्माण करके, BRO ने पूर्वी सिक्किम के निवासियों एवं सेना की आकांक्षाओं को पूरा किया है। रक्षा मंत्री ने कहा कि, पुराने वैकल्पिक मार्ग NH-310 पर भारी मात्रा में भूस्खलन एवं सिंकिंग की संभावनाओं वाला क्षेत्र है।इससे बरसात के मौसम में,यहाँ के लोगों एवं सेना को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।अब इस 19.35 किलोमीटर वैकल्पिक मार्ग NH-310 बन जाने से ये दिक्कतें दूर हो सकेंगी।

उन्होंने कहा कि, मैं आप सबको यह भी बताना चाहता हूँ कि BRO द्वारा सिक्किम के अधिकांश सीमावर्ती सड़कों का डबल लेन में अपग्रेडेशन किया जा रहा है। इसमें से ईस्ट सिक्किम में 65 किलोमीटर सड़क निर्माण-कार्य प्रगति पर है, तथा 55 किलोमीटर सड़क निर्माण योजना के तहत है। राजनाथ सिंह ने कहा कि, नॉर्थ सिक्किम में भारतमाला परियोजना के अन्तर्गत ‘मंगन-चुगथांग-यूमेसेमडोंग’ और ‘चुगंथांग-लाचेन-जीमा-मुगुथांग-नाकुला’ तक 225 किलोमीटर डबल लेन सड़क का निर्माण कार्य नियोजित है। ये कार्य 9 पैकेजों में नियोजित किए गए हैं, जिनकी अनुमानित लागत 5710 करोड़ रुपए है।

Rajnath Singh

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देश में, पूर्वोत्तर राज्यों में इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। BRO के पास पूर्वोत्तर क्षेत्र में कुल 8090 किमी लम्बाई की सड़के हैं। इनमें से 5734 किमी. निर्माण योजना में है