Connect with us

देश

Digvijaya Singh: सर्जिकल स्ट्राइक पर दिग्विजय को सवाल उठाना पड़ा महंगा, कांग्रेस ने बनाई दूरी, कही ये बात

Digvijaya Singh: कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्वीट कर लिखा, ”वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह द्वारा व्यक्त किए गए विचार उनके अपने हैं और कांग्रेस का उनके बयान से कोई लेना-देना नहीं हैं। साल 2014 से पहले यूपीए सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी। कांग्रेस ने राष्ट्रीय हित में सभी सैन्य कार्रवाइयों का समर्थन किया है और समर्थन करना जारी रखेगी।”

Published

digvijay singh

नई दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह (Congress leader Digvijaya Singh) को सेना के पराक्रम पर सवाल उठाना भारी पड़ गया हैं। अब कांग्रेस पार्टी ने उनके सर्जिकल स्ट्राइक पर दिए गए बयान से दूरी बना ली है। कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह के बयान से पाला झाड़ते हुए उनके निजी विचार बताए है। कांग्रेस के महासचिव और मीडिया प्रभारी जयराम रमेश ने इस संबंध में ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी है। बता दें कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भारत जोड़ो यात्रा के बीच जम्मू-कश्मीर में एक रैली को संबोधित करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक पर सवालिया निशान खड़े किए थे। साथ ही उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत भी मांगे थे। उनके इस बयान के बाद कांग्रेस पार्टी भाजपा और सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गई। वहीं बवाल के बाद कांग्रेस पार्टी ने अब दिग्विजय सिंह के बयान से किनारा कर लिया है।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्वीट कर लिखा, ”वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह द्वारा व्यक्त किए गए विचार उनके अपने हैं और कांग्रेस का उनके बयान से कोई लेना-देना नहीं हैं। साल 2014 से पहले यूपीए सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी। कांग्रेस ने राष्ट्रीय हित में सभी सैन्य कार्रवाइयों का समर्थन किया है और समर्थन करना जारी रखेगी।”

वहीं जयराम रमेश के ट्वीट पर भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, जयराम रमेश ने कहा कि दिग्विजय सिंह के बयान से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। लेकिन पल्ला झाड़ने से बात नहीं हुई है। पवन खेड़ा ने दिग्विजय सिंह के बयान को जयाज ठहराया है और वो अपने बयानों पर अड़े है। इसके अलावा राहुल गांधी ने सर्जिकल स्ट्राइक को खून की दलाली कहा था। शहजाद पूनावाला ने उनसे दिग्विजय सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement