Maharashtra: एकनाथ शिंदे का राहुल गांधी पर तगड़ा हमला, बोले – ऐसे ही सावरकर का अपमान करते रहे तो सड़क पर निकल नहीं सकेंगे

Maharashtra: जब राहुल से सवाल प्रेसवार्ता द्वारा विदेशी धरा पर अपने बयानों की माफी को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि वो वीर सावरकर थोड़ी ना ही कि माफी मांग लेंगे। वो गांधी हैं और गांधी कभी माफी नहीं मांगते हैं। उधर, अब उनके इसी बयान पर शिवसेना एकनाथ शिंदे का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि सावरकर केवल महाराष्ट्र के देवता नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए एक आदर्श हैं और राहुल गांधी ने उन्हें बदनाम किया है।

सचिन कुमार Written by: March 25, 2023 5:51 pm

नई दिल्ली। सांसदी गंवाने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज मीडिया से रूबरू हुए। उन्होंने मुख्तलिफ मुद्दों पर अपनी राय खुलकर जाहिर की और केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल ने कहा कि संसद में उन्हें अडानी मुद्दे को पुरजोर तरीके से उठाने की कीमत सांसदी गंवाकर चुकानी पड़ रही है, लेकिन उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का कोई मलाल नहीं है। बहरहाल, अब अपनी सांसदी गंवाने के बाद राहुल गांधी आगे क्या कुछ कदम उठाते हैं। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। आपको बता दें कि विगत लोकसभा चुनाव में मोदी सरनेम पर अपमाजनक टिप्पणी करने के मामले पर उनकी संसद सदस्यता रद्द कर दी गई। बीते गुरुवार कोर्ट ने उन्हें इसी मामले में दो साल की सजा सुनाई थी। हालांकि, बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी, लेकिन उन्हें अपनी सांसदी गंवानी पड़ गई थी। यह आगामी लोकसभा चुनाव से पूर्व उनके लिए बड़ा झटका है। राहुल ने आज इस मसले पर प्रेस कांफ्रेंस किया और केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यह सबकुछ प्रतिशोध की राजनीति के तहत किया जा रहा है। हालांकि, राहुल ने दो टूक कह दिया कि वो केंद्र की फासीवादी नीतियों के खिलाफ लड़ते रहेंगे।

rahul gandhi 12

वहीं, जब राहुल से पत्रकारों द्वारा विदेशी धरा पर अपने बयानों की माफी को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि वो वीर सावरकर थोड़ी ना है कि माफी मांग लेंगे। वो गांधी हैं और गांधी कभी माफी नहीं मांगते हैं। उधर, अब उनके इसी बयान पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि सावरकर केवल महाराष्ट्र के देवता नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए एक आदर्श हैं और राहुल गांधी ने उन्हें बदनाम किया है। राहुल गांधी की इस हरकत के लिए जितनी भी आलोचना की जाए कम होगी। आज भी उन्होंने कहा कि मैं माफी मांगने वाला सावरकर नहीं हूं। वह सावरकर के बारे में क्या सोचते हैं? उसे इसके लिए दंडित किया जाना चाहिए।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है कि जब राहुल ने वीर सावरकर पर इस तरह का अपमानजनक बयान दिया है, बल्कि इससे पहले भी वे इस तरह की अपमानजनक टिप्पणी कर चुके हैं। ध्यान रहे, इससे पहले भी उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान वीर सावरकर पर बयान दिया था, जिसे लेकर बीजेपी उन पर हमलावर हो गई थी। वहीं, अब जब सांसदी गंवाने के बाद राहुल गांधी ने प्रेसवार्ता किया है, तो अब उनका इस तरह का बयान सामने आया है, जिसे लेकर सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गुलजार हो चुका है। बहरहाल, अब राहुल गांधी अपनी सांसदी बहाल करने के लिए आगे क्या कुछ कदम उठाते हैं। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

Latest