Farmers Protest: ट्रैक्टर परेड को लेकर गतिरोध बरकरार, दिल्ली पुलिस ने रैली को लेकर रखी ये शर्त

Farmers Protest: ट्रैक्टर परेड(Tractor Parade) निकालने को लेकर दिल्ली पुलिस(Delhi Police) कमिश्नर ने कहा, ‘किसानों ने हमें कोई लिखित रूट नहीं दिया है। लिखित रूट आने के बाद ही बताएंगे।’ बता दें कि इस परेड को लेकर किसानों और पुलिस के बीच बातचीत अंतिम दौर में है।

Avatar Written by: January 24, 2021 10:45 am
Farmer Tractor Parade delhi police

नई दिल्ली। किसान संगठनों द्वारा दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली निकालने को लेकर अभी गतिरोध जारी है। बता दें कि इससे पहले एक दिन पहले इस परेड को लेकर जानकारी सामने आई थी कि, 26 जनवरी को किसानों का ट्रैक्टर परेड दिल्ली के अंदर जा सकेगा और वे मार्च कर सकेंगे। वहीं अब जानकारी सामने आई है कि इस परेड को लेकर किसान संगठन और दिल्ली पुलिस के बीच गतिरोध अभी जारी है। दिल्ली पुलिस ने इस परेड कोे लेकर किसानों के सामने अपनी कुछ शर्तें रखी हैं। बता दें कि इस परेड को लेकर जहां किसानों का कहना है कि उन्हें दिल्ली में ट्रैक्टर रैली की इजाजत मिल गई है, तो वहीं दिल्ली पुलिस ने कहा है कि अभी ट्रैक्टर रैली की मंजूरी हमारी तरफ से नहीं दी गई है। पुलिस की तरफ से कहा गया है कि किसानों की तरफ से अभी हमें लिखित रूप से ट्रैक्टर परेड का रूट नहीं मिला है।

इस परेड को लेकर दिल्ली पुलिस ने अपनी तरफ से साफ कर दिया है कि किसानों की ट्रैक्टर रैली रिंग रोड (Ring Road) पर नहीं निकाली जाएगी। वहीं पुलिस का कहना है कि, जब गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) पूरी हो जाएगी तो ही किसान अपनी रैली निकाल सकेंगे। इन सबके बाद भी पुलिस ने कहा है कि किसानों को इन सब चीजों को लिखित में देना होगा, तभी परेड निकालने की मंजूरी दी जा सकती है।

ट्रैक्टर परेड निकालने को लेकर दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने कहा, ‘किसानों ने हमें कोई लिखित रूट नहीं दिया है। लिखित रूट आने के बाद ही बताएंगे।’ बता दें कि इस परेड को लेकर किसानों और पुलिस के बीच बातचीत अंतिम दौर में है। वहीं किसानों की ट्रैक्टर परेड को लेकर किसान नेताओं का कहना है कि, हम अलग-अलग पांच रूटों से अपनी परेड निकालेंगे और परेड शांतिपूर्वक होगी।

Delhi Police Corona case

किसान नेता दर्शन पाल ने कहा कि करीब 100 किलोमीटर तक ट्रैक्टर परेड चलेगी। परेड में जितना समय लगेगा, वो हमें दिया जाएगा। यह परेड ऐतिहासक होगी, पूरी दुनिया इसे देखेगी।

इससे पहले शनिवार को योगेंद्र यादव ने बताया था कि, “26 जनवरी को किसान इस देश में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड करेगा। पांच दौर की वार्ता के बाद ये सारी बातें कबूल हो गई हैं। सारे बैरिकेड खुलेंगे, हम दिल्ली के अंदर जाएंगे और मार्च करेंगे। रूट के बारे में मोटे तौर पर सहमति बन गई है।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost