फर्रुखाबाद: बच्चों को बंधक बनाने वाला आरोपी ढेर, पुलिस टीम को 10 लाख के इनाम की घोषणा

उत्तर प्रदेश के फरुर्खाबाद जिले के मोहम्मदाबाद इलाके में करथिया गांव में एक सिरफिरे ने जन्मदिन के बहाने 23 मासूमों को 11 घंटे तक खौफ में कैद रखा। हालांकि, करीब 8 घंटे चले ऑपरेशन के बाद यूपी पुलिस 23 बच्चों की जिंदगी बचाने में कामयाब रही।

Written by: January 31, 2020 9:18 am

फरुर्खाबाद। उत्तर प्रदेश के फरुर्खाबाद जिले के मोहम्मदाबाद इलाके में करथिया गांव में एक सिरफिरे ने जन्मदिन के बहाने 23 मासूमों को 11 घंटे तक खौफ में कैद रखा। हालांकि, करीब 8 घंटे चले ऑपरेशन के बाद यूपी पुलिस 23 बच्चों की जिंदगी बचाने में कामयाब रही। गुरुवार दोपहर करीब ढाई बजे से शुरू हुआ ये खौफनाक खेल रात करीब डेढ़ बजे सिरफिरे सुभाष बाथम की मौत के साथ खत्म हुआ।

subhash gautam Farrukkhabad

बच्चों को बाहर निकालने के लिए यूपी पुलिस ने इसे ‘ऑपरेशन मासूम’ का नाम दिया था। इस ऑपरेशन के सफल होने के बाद डीजीपी ओपी सिंह और प्रमुख सचिव गृह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया है कि सुभाष बाथम नाम के आरोपी को पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया गया है। एटीएस और एनएसजी की टीम के आने से पहले जब आरोपी ने जब धमकियां देनी शुरू की तो पुलिस ने कार्रवाई शुरू की।

इस दौरान आरोपी की तरफ से फायरिंग की गई। जवाब में पुलिस की तरफ से फायरिंग में आरोपी मारा गया। कुल 23 बच्चे बचाये गए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रात 8 बजे से लगातार मॉनिटरिंग कर रहे थे। सीएम ने पुलिस टीम को 10 लाख रुपये के पुरस्कार की घोषणा का ऐलान किया है।

Farrukkhabad police

सुभाष बाथम ने अपनी बच्ची के जन्मदिन के बहाने बच्चों को अपने घर बुलाया था

सुभाष बाथम ने मोहल्‍ले के बच्‍चों से कहा कि उसकी बेटी का जन्‍मदिन है, इस तरह उसने 20 से ज्यादा बच्‍चों को बुला लिया और इसके बाद दरवाजे बंद कर दिए। बाद में कुछ बच्‍चों के रोने की आवाज आई तो पड़ोस के लोग वहां पहुंचे। इसके बाद पड़ोसियों ने बच्‍चों को छोड़ने को कहा तो सुभाष बाथम ने कहा कि पहले विधायक नागेंद्र सिंह राठौर को बुलाओ, उसके बाद बच्‍चों को छोड़ा जाएगा।