Connect with us

देश

Gujarat: EC से AAP की मान्यता रद्द करने की मांग, गुजरात में केजरीवाल के बयान से भड़के 50 पूर्व नौकरशाहों ने लिखी चिट्ठी

दरअसल, विगत 3 सितंबर को गुजरात में एक सभा को संबोधित करने के क्रम में आप संय़ोजक अरविंद केजरीवाल ने प्रशासनिक अधिकारियों से आगामी गुजरात विधानसभा में आम आदमी पार्टी को विजयी दिलाने की मांग की थी। केजरीवाल ने कहा था कि जितने भी पूर्व प्रशासनिक अधिकारी हैं, वे आम आदमी पार्टी को विजयी घोषित कराने की दिशा में अपना कदम बढ़ाए।

Published

on

नई दिल्ली। अपने बयानों को लेकर कभी सुर्खियों के सैलाब में तो कभी विवादों की दरिया में गोता लगाने वाले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से अपने एक विवादित बयान को लेकर मुश्किल में फंस गए हैं, लेकिन इस बार विवाद कोई साधारन नहीं है, बल्कि इस बार आप विवादों की गंभीरता का अंदाजा महज इसी से लगा सकते हैं कि 50 पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों ने आम आदमी पार्टी की मान्यता रद्द कराने के लिए चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया है। दरअसल, पूर्व प्रशासनिक अधिकारी सीएम केजरीवाल के उस बयान से खफा हो गए हैं, जो उन्होंने बीते दिनों गुजरात में दिया था। आइए, आगे रिपोर्ट में विस्तार से बताते हैं कि आखिर आप संयोजक का वो कौन सा बयान था, जो उनकी पार्टी के लिए अब गले की फांस बन चुका है।

Arvind Kejriwal, Gujarat

जानें पूरा माजरा

दरअसल, विगत 3 सितंबर को गुजरात में एक सभा को संबोधित करने के क्रम में आप संय़ोजक अरविंद केजरीवाल ने प्रशासनिक अधिकारियों से आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को विजयी दिलाने की मांग की थी। केजरीवाल ने कहा था कि जितने भी पूर्व प्रशासनिक अधिकारी हैं, वे आम आदमी पार्टी को विजयी घोषित कराने की दिशा में अपना कदम बढ़ाए। उन्होंने सभी प्रशासनिक अधिकारियों से आप को विजयी घोषित कराने की अपील की थी। आप संयोजक ने कहा था कि जितने भी प्रशासनिक अधिकारी हैं, वो आम आदमी पार्टी में शामिल होकर पार्टी को विजयी घोषित कराने की दिशा में अपना अमूल्य योगदान दें। आपका यह कदम गुजरात में एक प्रभावशाली शासन का मार्ग प्रशस्त कर सकता है।

लिहाजा प्रशासनिक अधिकारियों के संदर्भ में दिए गए बयान को लेकर केजरीवाल अब मुश्किलों में फंस चुके हैं। प्रशासनिक अधिकारी केजरीवाल के बयान को अस्वीकार्य रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों ने केजरीवाल के इस बयान को राजनीति से प्रेरित बताया है।

बता दें कि आगामी दिनों में गुजरात में विधानसभा के चुनाव होने हैं। जिसमें सभी पार्टी अपना हाथ आजमाने जा रहे हैं। इसी बीच आम आदमी पार्टी की सक्रियता भी अपने चरम पर पहुंच चुकी है। लेकिन इस बार केजरीवाल अपने बायन को लेकर पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों की नजर में आ चुके हैं।

अब ऐसे में यह पूरा माजरा आगामी दिनों में क्या रुख अख्तियार करता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। तब तक के लिए आप देश दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Advertisement
Advertisement
Advertisement