Connect with us

देश

एक साल में चार बार संघ ने की प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व की तारीफ

पिछले एक वर्ष के भीतर यह चौथा बड़ा मौका है, जब आरएसएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की खुलकर तारीफ की है। अब राम मंदिर निर्माण की घड़ी करीब आने पर आरएसएस के सरकार्यवाह (महासचिव) सुरेश भैय्याजी जोशी के आए ताजा बयान से संकेत निकल रहे हैं।

Published

on

नई दिल्ली। पिछले एक वर्ष के भीतर यह चौथा बड़ा मौका है, जब आरएसएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की खुलकर तारीफ की है। अब राम मंदिर निर्माण की घड़ी करीब आने पर आरएसएस के सरकार्यवाह (महासचिव) सुरेश भैय्याजी जोशी के आए ताजा बयान से संकेत निकल रहे हैं। एक के बाद एक बड़े एजेंडे के धरातल पर उतरने से संघ परिवार के लोग खुश हैं। अनुच्छेद 370, सीएए, कोरोना काल में लॉकडाउन और अब राम मंदिर के मौके पर संघ ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व की संकेतों में सराहना की है।

rss

आरएसएस के सरकार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी ने बीते शनिवार को जब एक कार्यक्रम में देश के मौजूदा राजनैतिक नेतृत्व को सौभाग्य की बात करार दिया तो इसे बीजेपी की केंद्र सरकार की तारीफ से जोड़कर देखा जा रहा है। सुरेश भैय्याजी जोशी ने अशोक सिंघल फाउंडेशन के कार्यक्रम में राम मंदिर के मुद्दे पर बोलते हुए कहा था, “हम सबका सौभाग्य है कि आज देश को ऐसा राजनैतिक नेतृत्व मिला है, जिससे हमें विश्वास और अनुभव हो रहा है कि भारत फिर से श्रेष्ठ देश के रूप में विश्व पटल पर उभरेगा। भारत विश्व को प्रेरणा देते हुए मार्ग दिखाएगा।”

Narendra Modi

संघ के एक सहयोगी संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारी ने आईएएनएस से कहा, “देश में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पहली बार ऐसी सरकार है जो संघ के अनुकूल भी है और मजबूत भी है। बहुमत की सरकार होने से वर्षों से लंबित मांगें पूरी हो रहीं हैं और समस्याओं का अंत हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी के साहसिक फैसले की वजह से पांच अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया जा सका था। इसकी मांग जनसंघ के जमाने से चल रही थी। अब राम मंदिर के निर्माण के रूप में सदियों की आकांक्षा पूरी होने वाली है। ऐसे में संघ परिवार का खुश होना स्वाभाविक है।”

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 और 35 ए को ठीक एक साल पहले 5 अगस्त को जब मोदी सरकार ने हटाया था, तब संघ नेताओं ने सरकार की सराहना की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को इसका श्रेय दिया था। वहीं नागरिकता संशोधन कानून का प्रस्ताव लोकसभा और राज्यसभा में पास होने पर 12 दिसंबर 2019 को आरएसएस के सरकार्यवाह सुरेश भैय्याजी ने बयान जारी कर प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का अभिनंदन किया था। उन्होंने कहा था, ” इस साहसिक कदम के लिए, हम केंद्र सरकार का और विशेषत: प्रधानमंत्री और गृहमंत्री जी का हृदय से अभिनंदन करते हैं, उनको धन्यवाद देते हैं।”

rss

तीसरी बार संघ ने कोरोना काल में मोदी सरकार की तारीफ की। जब संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने मई में एक वीडियो संदेश में कहा था कि भारत में प्रधानमंत्री मोदी ने समय से लॉकडाउन जैसे कई सख्त फैसले लिए, जिससे महामारी की रफ्तार धीमी हुई। अब आरएसएस ने राम मंदिर निर्माण की घड़ी करीब आने पर फिर से देश के राजनैतिक नेतृत्व को सौभाग्य बताकर इशारों ही इशारों में प्रधानमंत्री मोदी की सराहना की है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement