कोरोना की देसी वैक्सीन को लेकर मिल रही गुड न्यूज, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिए ये संकेत

दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच इस महामारी की वैक्सीन की खोज जारी है। एक तरफ दुनिया में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 1.4 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है, जबकि इससे होने वाली मौतों की संख्या 601,000 से अधिक हो गई है। भारत में भी कोरोना के आंकड़े 10 लाख के पार हो गए हैं।

Avatar Written by: July 18, 2020 7:29 pm

नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच इस महामारी की वैक्सीन की खोज जारी है। एक तरफ दुनिया में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 1.4 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है, जबकि इससे होने वाली मौतों की संख्या 601,000 से अधिक हो गई है। भारत में भी कोरोना के आंकड़े 10 लाख के पार हो गए हैं। इसी बीच आज स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने एक ट्वीट किया। जिससे कोरोना वायरस के लिए बनाई जा रही वैक्सीन को लेकर एक उम्मीद की किरण जग गई है।

corona vaccine

वैक्सीन पर हर्षवर्धन ने दिए संकेत

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने शुभ संकेत देते हुए ट्वीट किया कि स्वदेशी कोरोना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रॉयल शुरू हो गया है। कोविड-19 के खिलाफ जंग अब निर्णायक दौर में है। पिछले कई महीनों से कोरोना वैक्सीन के विकास के लिए जारी प्रयास के सकारात्मक संकेत मिलने लगे हैं। हम जल्द ही इस महामारी पर पूरी तरह जीत प्राप्त कर लेंगे।

इसी बीच देश में कोरोना वायरस की पहली संभावित वैक्सीन ‘कोवाक्सिन’ बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ ने दावा किया है कि तीन महीने के भीतर लाखों की संख्या में वैक्सीन की डोज तैयार कर ली जाएगी। बता दें, इससे पहले अदर पूनावाला ने दावा किया था कि साल के अंत तक कोविड 19 की वैक्सीन विकसित कर ली जाएगी।

अच्छा होगा वैक्सीन

उन्होंने बताया था कि हम एक अच्छे व सुरक्षित वैक्सीन लाने की ओर अग्रसर हैं। साथ ही उन्होंने कोरोना की वैक्सीन समय से पहले बनाए जाने की अटकलों को भी खारिज कर दिया। वहीं दूसरी ओर इस वैक्सीन का ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल भी हैदराबाद के निजाम इंस्टीट्यूट में शुरू हो गया है।

दो कंपनियों को मिली क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी

बता दें, पिछले दिनों भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई कोरोना वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल शुरू करने के लिए देश के दवा नियामक की मंजूरी मिली थी। गौरतलब है कि देशभर में इस समय कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सात टीके को विभिन्न स्तरों पर तैयार किया जा रहा है। इन वैक्सीन में से दो को मनुष्य रक क्लीनिकल ट्रायल शुरू करने की मंजूरी मिल चुकी है। इससे पहले महीने की शुरुआत में जाइडस कंपनी ने कहा था कि उसे टीके के मानव पर परीक्षण शुरू करने के लिए अनुमति मिल गई है।

corona

साल के अंत तक आएगा वैक्सीन

कंपनी के सीईओ ने समय से पहले कोरोना वायरस के वैक्सीन के आने की अटकलों को खारिज करते हुए कहा था कि हम कोई भी जल्दबाजी नहीं करना चाहते हैं। हमारा उद्देश्य एक ऐसी वैक्सीन बनाने का है जो सुरक्षित और कारगार हो। जब हमें भरोसा हो जाएगा तब हम भारत और पूरी दुनिया के लिए इसका ऐलान कर देंगे।