Connect with us

देश

Happy Birthday Nirmala Sitaraman: भारत की मौजूदा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का 63वां जन्मदिन आज, लंदन में एक होम डिकोर में सेल्स गर्ल के रूप में भी किया काम

Happy Birthday Nirmala Sitaraman: उन्होंने जेएनयू से एमफिल भी किया है। आइए हम आज आपको उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातों के बारें में बताएंगे

Published

नई दिल्ली। देश की पहली महिला रक्षा मंत्री और भारत की मौजूदा केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज अपना 63वां जन्मदिन मना रही है। निर्मला सीतारमण का जन्म तमिलनाडु के चेन्नई के निकट मदुरई में 18 अगस्त 1959 को हुआ था। बता दें कि निर्मला के पिता नारायण सीतारमण भारतीय रेलवे में जॉब करते थे, जिसके कारण उनका बचपन अलग-अलग शहरों में बीता। निर्मला सीतारमण ने जेएनयू से इकोनॉमिक्स में एमए की डिग्री की हासिल की है। उन्होंने जेएनयू से एमफिल भी किया है। आइए हम आज आपको उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातों के बारें में बताएंगे-

डॉक्टर पराकाला प्रभाकर से हुई है शादी

जेएनयू में उनकी मुलाकात डॉक्टर पराकाला प्रभाकर से हुई थी, इसके बाद में दोनों ने शादी कर ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति पराकाला प्रभाकर आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। प्रभाकर ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पीएचडी प्राप्त की है। केन्द्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रभाकर के साथ लंदन में ही रहना शुरू कर दिया था। खबरों के अनुसार लंदन में सीतारमण एक होम डिकोर में सेल्स गर्ल के रूप में काम करती थी। हालांकि, बाद में इन्होंने प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स में सीनियर मैनेजर के रुप में काम किया है। इसके अलावा निर्मला ने बीबीसी वर्ल्ड सर्विस में भी काम किया है। साल 1991 में अपनी बेटी के जन्म के समय में निर्मला और उनके पति सीतारमण प्रभाकर वापस लौट आए। उन दिनों पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के कारण चेन्नई में रोष था जिस कारण उन्हें 3 दिनों तक हॉस्पिटल में ठहरना पड़ा था। इसके बाद हॉस्पिटल के कर्मचारीयों ने अपनी गाड़ी में सफेद झंडा लगाकर उन्हें घर भेजा था।

रक्षा मंत्री से वित्त मंत्री बनने का सफर

निर्मला ने हैदराबाद में सेंटर फॉर पब्लिक पॉलिसी में स्टडीज के उप निदेशक के रुप में कार्य किया। साल 2003 से 2005 तक वह महिला आयोग की सदस्य रही, इसके बाद 2008 में भाजपा की सदस्य बनीं। निर्मला ने प्रवक्ता के रुप में काफी अच्छी पकड़ बना ली थी। सुषमा स्वराज के बाद सीतारमण ही एक अच्छी प्रवक्ता के रुप में उभरी। साल 2014 में जब बीजेपी की सरकार बनी तब उन्होंने वित्त मंत्री के रुप शपथ ली थी। इसके बाद उन्होंने 2017 में देश की रक्षा मंत्री और 2019 में केन्द्रीय वित्त मंत्री के रुप में शपथ ली थी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement