भ्रष्टाचार में फंसा केजरीवाल का चहेता आप विधायक अमानतुल्लाह खान, एंटी करप्शन ब्यूरो ने दर्ज की एफआईआर

याचिकाकर्ता का आरोप है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड के सदस्य और अध्यक्ष के रूप में 12 मार्च, 2016 से सात अक्टूबर, 2016 तक के अमानतुल्लाह खां के कार्यकाल के दौरान उन पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार, अनियमितताएं और गैरकानूनी काम करने के आरोप लगे थे।

Written by: January 29, 2020 4:16 pm

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान फंस गए हैं। उनके खिलाफ वक़्फ़ से संबंधित धोखाधड़ी के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। दिल्ली सरकार के एंटी करप्शन ब्यूरो ने अमानतुल्लाह खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। ये एफआईआर वक़्फ़ की धनराशि का दुरुपयोग करने के सिलसिले में दायर की गई है।

Amanatullah Khan and Arvind Kejriwal

अमानतुल्लाह खान ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक हैं। उन पर दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रहते हुए गड़बड़ियों और भ्रष्टाचार के आरोप लगते रहे हैं। इस सिलसिले में सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दाखिल हो चुकी है।

delhi waqf board

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष पद पर अमानतुल्लाह खां की नियुक्ति के खिलाफ याचिका पर दिल्ली सरकार से जवाब भी मांगा है। इस याचिका में आरोप लगाया गया था कि अमानतुल्लाह खां ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान लभ्रष्टाचार और अनियमितताएं की थीं।

kejriwal sad

याचिकाकर्ता का आरोप है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड के सदस्य और अध्यक्ष के रूप में 12 मार्च, 2016 से सात अक्टूबर, 2016 तक के अमानतुल्लाह खां के कार्यकाल के दौरान उन पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार, अनियमितताएं और गैरकानूनी काम करने के आरोप लगे थे।

आपको बता दें कि इस बार आप के विधायक अमानतुल्‍लाह ओखला विधानसभा क्षेत्र से प्रत्‍याशी हैं। दिल्‍ली चुनाव के बीच में एफआइआर दर्ज होने से आम को परेशानी हो सकती है। अमानतुल्‍लाह खान दिल्‍ली वक्‍फ बोर्ड के भी अध्‍यक्ष हैं। अमानतुल्लाह खान पर प्रदेश कांग्रेस ने पहले भी घोटाले का आरोप लगाया था। इसको लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी का एक प्रतिनिधि मंडल उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर शिकायत कर चुका था।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अनुसार 100 करोड़ के घोटाले का मामला है। प्रदेश कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल उपराज्यपाल को ज्ञापन सौंपते हुए दिल्ली वक्फ बोर्ड में चल रही गड़ब़ड़ी, भाई भतीजावाद और भ्रष्टाचार की ओर ध्यान दिलाया था। पैसे की अनियमितताएं के कारण अमानतुल्‍लाह खान को अध्‍यक्ष पद से हटाने की मांग भी की गई थी।

kejriwal-amantullah

इसके अलावा अमानतुल्‍लाह को लेकर कुछ दिन पहले एक और मामले में शिकायत दर्ज कराई गई थी। आरोप लगाया गया था कि विधायक अमानतुल्लाह खान ने नागरिकता कानून पर अपने सोशल मीडिया हैंडल से एक आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में अमातुल्लाह खान भी शामिल रहे हैं। जामिया इलाके में हुई हिंसा मामले में भी अमानतुल्लाह खान का नाम आया था। दिल्‍ली चुनाव के बीच में एफआईआर दर्ज होने से आम आदमी पार्टी को परेशानी हो सकती है।