वोटिंग से पहले केजरीवाल पहुंचे हनुमान मंदिर, लोगों ने कहा- ‘दिल्ली के रंगे सियार, चांदनी चौक का मंदिर..’

एक यूजर ने रिप्लाई में लिखा कि, “चुनाव नजदीक आते ही हिंदू और बजरंगबली याद आने लग गए, कुछ महीने पहले स्वास्तिक को झाड़ू से मारा जा रहा था तब हिंदू याद नहीं आया दिल्ली की जनता के टैक्स का पैसा मस्जिद के मौलवी को 44000 वहां के सहायक को 16000 पर हनुमान मंदिर के पंडित को जीरो दंगाई को 5 लाख और सरकारी नौकरी।”

Avatar Written by: February 7, 2020 7:56 pm

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 8 फरवरी को वोटिंग होगी और नतीजे 11 फरवरी को आएंगे। इसके लिए चुनाव प्रचार 6 फरवरी को ही बंद हो गए हैं। इस बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को राजधानी के कनॉट प्लेस स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर जाकर पूजा अर्चना की।

Voting

इसको लेकर केजरीवाल ने एक ट्वीट किया, जिसमें लिखा है कि, “सीपी में प्राचीन हनुमान मंदिर जाकर हनुमान जी का आशीर्वाद लिया। देश और दिल्ली की तरक्की के लिए प्रार्थना की। भगवान जी ने कहा, अच्छा काम कर रहे हो। इसी तरह लोगों की सेवा करते रहो। फल मुझ पर छोड़ दो। सब अच्छा होगा।”

arvind kejriwal tweet

आपको बता दें कि ट्विटर पर लोगों ने केजरीवाल के इस ट्वीट पर अपने तरीके से रिप्लाई किए हैं। इस ट्वीट पर एक यूजर ने रिप्लाई में लिखा कि, “चुनाव नजदीक आते ही हिंदू और बजरंगबली याद आने लग गए, कुछ महीने पहले स्वास्तिक को झाड़ू से मारा जा रहा था तब हिंदू याद नहीं आया दिल्ली की जनता के टैक्स का पैसा मस्जिद के मौलवी को 44000 वहां के सहायक को 16000 पर हनुमान मंदिर के पंडित को जीरो दंगाई को 5 लाख और सरकारी नौकरी।”

वहीं दीक्षा पांडेय ने केजरीवाल को रिप्लाई करते हुए लिखा कि, “दिल्ली के रंगे सियार, चांदनी चौक का मंदिर तुड़वाने के बाद हनुमान की भक्ति कर रहा है, शर्म नही आती है क्या.??।”

diksha pandey

देखिए केजरीवाल के ट्वीट पर कैसे-कैसे रिप्लाई आए…

आपको ये भी बता दें कि इससे पहले एक निजी चैनल के कार्यक्रम में अरविंद केजरीवाल ने खुद को हनुमान भक्त बताते हुए हनुमान चालीसा गाई थी। केजरीवाल ने कहा था कि उन्हें पूरी चालीसा याद है और इसे गाने से शांति मिलती है। जिसके बाद उन्होंने पूरी हनुमान चालीसा सुनाई थी। इसके अलावा बुधवार को नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गदा लेकर वोट मांगते नजर आए थे।

उन्होंने दावा किया था कि अब वो भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से भी हनुमान चालीसा पढ़वाएंगे। उन्होंने कहा था, ‘यह हनुमान का प्रतीक है। जब मैंने हनुमान चालीसा सुनाई, तो बीजेपी वालों को मिर्ची लग गई। अभी मैंने हनुमान चालीसा गाई है और अब सारे बीजेपी नेताओं से हनुमान चालीसा गवाऊंगा।’

Support Newsroompost
Support Newsroompost