Connect with us

देश

Delhi: न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर को लेकर केजरीवाल ने किया सिसोदिया गुणगान, तो लोगों ने ऐसे लिए मजे

Delhi: संतोष सिंह नाम के यूजर ने लिखा, ”टैक्स पेयर के पैसों से US के अखबारों में विज्ञापन देकर NYT के फ्रंट पेज पर फ़ोटो छपवा लेने से आप के भ्रष्टाचार का पाप मिट नही जाएगा। चोरों को जेल जाना ही होगा। वैसे “खुद की पीठ थपथपाने” से बेहतर है सच को स्वीकार करो।”

Published

on

manish sisodia and arvind kejriwal

नई दिल्ली। आबकारी घोटाले मामले में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर पर शुक्रवार को सीबीआई ने रेड मारी है। इसकी जानकारी खुद मनीष सिसोदिया ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए दी है। डिप्टी सीएम के घर पर हुई छापेमारी को लेकर सियासत भी तेज हो गई है। एक तरफ जहां आम आदमी पार्टी के नेता उनके बचाव में उतर आए है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, संजय सिंह ने मनीष सिसोदिया के घर पर हुई छापेमारी को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला। वहीं दूसरी ओर विपक्ष दल केजरीवाल सरकार पर हमलावर हो गई है। बता दें कि आबकारी घोटाले में सीबीआई ने मनीष सिसोदिया के घर समेत दिल्ली-एनसीआर के 21 ठिकानों पर छापा मारा है। वहीं सीबीआई ने छापेमारी उस वक्त की है जब अमेरिका के सबसे बड़े अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स के फ्रंट पेज पर दिल्ली के शिक्षा मॉडल पर खबर छपी है। जिसमें लिखा हुआ है कि भारत के दिल्ली में शिक्षा क्रांति हो रही है।

अब इसी को लेकर दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया के आवास पर हुई छापेमारी को लेकर बचाव किया है।  केजरीवाल ने न्यूयॉर्क टाइम्स के अखबार के पेज को साझा करते हुए ट्वीट कर लिखा, ”दिल्ली ने भारत को गौरवान्वित किया है। दिल्ली मॉडल अमेरिका के सबसे बड़े अखबार के पहले पन्ने पर है। मनीष सिसोदिया स्वतंत्र भारत के सर्वश्रेष्ठ शिक्षा मंत्री हैं।”

लोगों की प्रतिक्रिया-

हालांकि सीएम केजरीवाल अपने इस ट्वीट के जरिए मनीष सिसोदिया का बचाव करने के चक्कर में सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए। लोगों ने न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर को लेकर दिल्ली सरकार को खरी खोटी सुनाई है। संतोष सिंह नाम के यूजर ने लिखा, ”टैक्स पेयर के पैसों से US के अखबारों में विज्ञापन देकर NYT के फ्रंट पेज पर फ़ोटो छपवा लेने से आप के भ्रष्टाचार का पाप मिट नही जाएगा। चोरों को जेल जाना ही होगा। वैसे “खुद की पीठ थपथपाने” से बेहतर है सच को स्वीकार करो।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, ”वाकई… मनीष सिसोदिया को बाकी राज्यों को भी ये सिखाना चाहिए कि कैसे खराब रिजल्ट लाकर भी पैसे खिलाकर बड़े-बड़े अखबारों में अपनी वाहवाही की जाए… लगे रहो आपियो।”

 

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement