सेना के साथ मिलकर सीमा पर कुछ ऐसा कर रहे लद्दाखी नागरिक की खौफ में है चीनी सेना

लद्दाख(Laddakh) के लोगों के लिए देश ही सर्वप्रथम है। वह अपनी मिट्टी की रक्षा के लिए हमेशा भारतीय सेना(Indian Army) के साथ खड़े दिखते हैं। 1999 में करगिल(Kargil) युद्ध के दौरान भी लद्दाख के लोगों ने सेना की खूब मदद की थी।

Avatar Written by: September 6, 2020 1:53 pm
Ind China LAC Laddakh

नई दिल्ली। लद्दाख सीमा पर भारत-चीन विवाद को देखते हुए वहां के स्थानीय लोग अब अपनी राष्ट्रभक्ति के चलते चीन के दांत खट्टे करने के लिए तैयार हैं। दरअसल जिस जगह तनाव की स्थिति बनी हुई है, वहां भारतीय सेना के जवान ऊंचे और दुर्गम इलाकों में तैनात हैं। यह ऐसे इलाके हैं, जहां पहुंचना ही जान को खतरे में डालने के बराबर है लेकिन हमारे जवान देश की रक्षा के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।

indian Army China inda

ऐसे में उनकी देशभक्ति को सलाम करते हुए लद्दाख के सीमावर्ती गांवों के जवान, पूर्व सर्विसमैन, महिलाए और सभी लोग सेना के जवानों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। वह उन्हें जरूरी सामान पहुंचा रहे हैं। यह लोग भारतीय सेना की मदद के लिए तत्परता दिखा रहे हैं। वह सेना के जवानों को राशन, पानी और बाकि सुविधाएं मुहैया करवा रहे हैं।

Ind China

यह किसी एक इलाके की बात नहीं है बल्कि गुरुगं हिल से लेकर ब्लैकटॉप तक लगातार सामान की आवाजाही की जा रही है। लोग अपनी जान की परवाह किए बिना सेना की मदद के लिए इन ऊंचे और दुर्गम इलाकों में चढ़ाई कर रहे हैं और सेना के जवानों तक जरूरी सामान पहुंचा रहे हैं। लद्दाख के लोग हमेशा से सेना की ऐसी ही मदद करते रहे हैं।

Ind China LAC

लद्दाख के लोगों के लिए देश ही सर्वप्रथम है। वह अपनी मिट्टी की रक्षा के लिए हमेशा भारतीय सेना के साथ खड़े दिखते हैं। 1999 में करगिल युद्ध के दौरान भी लद्दाख के लोगों ने सेना की खूब मदद की थी। करगिल युद्ध के दौरान यहां के लोग भारतीय सेना के पीछे चट्टान के जैसे खड़े थे। ऐसे ही अब जब चीन के साथ LAC पर तनाव की स्थिति है तो लद्दाख के लोग फिर से आगे आए हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost