एक होंगे शिवराज और महाराज, 15000 कार्यकर्ता करेंगे जोरदार स्वागत, शुक्रवार को राज्यसभा का पर्चा तय

सूत्रों के अनुसार, भाजपा के प्रदेश कार्यालय में स्वागत कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। बड़ी संख्या में लोग पहुंचकर उनका स्वागत करेंगे। राजा भोज हवाई अड्डे से भव्य रोड शो की शुरुआत कर ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा कार्यालय में आएंगे।

Written by: March 12, 2020 10:02 am

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश की राजनीति में जबरदस्त बदलाव आ चुका है। कभी एक दूसरे के परंपरागत विरोधी रहे शिवराज और महाराज अब एक हो चुके हैं। भोपाल के भाजपा प्रदेश कार्यालय में ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वागत की तैयारी जोर शोर से चल रही है। बीजेपी नेताओं का दावा है कि दस से पन्द्रह हजार लोग आएंगे।

Jyotiraditya Scindia and Shivraj Singh

ज्योतिरादित्य सिंधिया भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने के बाद आज भोपाल पहुंच रहे हैं। वे इस दौरान राज्यसभा के लिए नामांकन भरेंगे। सिंधिया गुरुवार दोपहर तीन बजे विमान से भोपाल पहुंचेंगे। वह सबसे पहले बीजेपी कार्यालय जाएंगे। यहां वे पं दीनदयाल उपाध्याय, विजयाराजे सिंधिया, कुशाभाऊ ठाकरे की प्रतिमाओं और माधवराव सिंधिया के चित्र पर माल्यार्पण करेंगे।

BJP Madhya Pradesh

बीजेपी उनके भव्य स्वागत की तैयारी में है। इस स्वागत के ज़रिए कांग्रेस को मुंह चिढ़ाने की भी तैयारी है। उधर ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस को छोड़ने के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस के करीब 10,000 पदाधिकारियों ने इस्तीफे दे दिये हैं और कई पदाधिकारी त्यागपत्र दे सकते हैं। ये इस्तीफे राज्य स्तर से ब्लॉक स्तर तक के पदाधिकारियों के हैं और कल सुबह से लेकर आज शाम तक दिए गए हैं। इनमें कुछ कांग्रेस जिला अध्यक्ष भी शामिल हैं।

jyotiraditya scindia

सिंधिया शुक्रवार 13 मार्च को दोपहर 12 बजे एक बार फिर भाजपा कार्यालय पहुंचेंगे और महापुरुषों के चित्र पर माल्यार्पण करने के पश्चात राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने विधानसभा परिसर जाएंगे।

गौरतलब है कि 18 सालों तक कांग्रेस में शामिल रहे सिंधिया ने बुधवार को भाजपा का दामन थाम लिया था, जिसके कुछ घंटों के भीतर ही उन्हें पार्टी से राज्यसभा का टिकट भी मिल गया था। सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान ने सिंधिया को भाजपा की ओर से राज्यसभा का उम्मीदवार चुने जाने पर बधाई दी थी।

Jyotiraditya Scindia joins BJP Party in presence of BJP President J.P Nadda

सिंधिया की बगावत के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार मुश्किल में आ गई है। सिंधिया खेमे के 22 विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया है। सिंधिया के इस्तीफे पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, “वह अकेले ऐसे कांग्रेस के नेता थे, जो बेधड़क मेरे घर में आ-जा सकते थे।”