Connect with us

देश

Cabinet Decisions: दिल्ली समेत इन स्टेशनों का होगा कायाक्लप, दिखेगा एकदम एयरपोर्ट जैसा, आपने देखा वीडियो

Cabinet Decisions: बताया जा रहा है कि दिल्ली का स्टेशन करीब साढ़े तीन में बनकर तैयार होगा। जो एकदम एयरपोर्ट जैसा दिखेगा। इसके साथ यात्रियों की हर एक सुविधा का विशेष तौर पर ध्यान रखकर बनाया जा रहा है। इसमें यात्रियों को विश्व स्तरीय सेवा प्रदान की जाएगी।

Published

on

नई दिल्ली। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। जिसमें कई अहम फैसले लिए गए। दिवाली से पहले मोदी कैबिनेट ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेशनर्स को तोहफा दिया है। सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता चार फीसदी बढ़ाने का ऐलान किया है। इसके अलावा मोदी कैबिनेट मुफ्त अनाज योजना को तीन महीने के लिए बढ़ाने के लिए का निर्णय लिया है। खास बात ये है कि मुफ्त अनाज योजना इसी महीने 30 सितंबर को खत्म होने जा रही थी। लेकिन सरकार ने गरीबों के हित में फैसला लेते हुए इस योजना को दिसंबर तक बढ़ाए जाने का निर्णय ले लिया है। इसके अलावा कैबिनेट ने नई दिल्ली, अहमदाबाद और मुंबई रेलवे स्टेशनों के कायाक्लप करने का फैसला लिया है। इसकी जानकारी केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मीटिंग के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए दी।

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि, ”केंद्र सरकार ने नई दिल्ली, छत्रपति शिवाजी और अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास के लिए 10,000 करोड़ रुपए अनुमोदन राशि स्वीकृति दी है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि,अभी कुल 199 रेलवे स्टेशन के पुनर्निमार्ण का कार्य भी चल रहा है।” बताया जा रहा है कि दिल्ली का स्टेशन करीब साढ़े तीन में बनकर तैयार होगा। जो एकदम एयरपोर्ट जैसा दिखेगा। इसके साथ यात्रियों की हर एक सुविधा का विशेष तौर पर ध्यान रखकर बनाया जा रहा है। इसमें यात्रियों को विश्व स्तरीय सेवा प्रदान की जाएगी।

वहीं अहमदाबाद और मुंबई स्टेशनों का कायाकल्प होने में ढ़ाई साल का वक्त लगेगा। केंद्रीय रेल मंत्री वैष्णव ने बताया कि, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन बसों, ऑटो और मेट्रो रेल सेवाओं के साथ ट्रेन सेवाओं को एकीकृत करेगा। अहमदाबाद रेलवे स्टेशन का नया स्वरूप मोडेरा के सूर्य मंदिर से प्रेरित है और CSMT के हेरिटेज भवन में बदलाव नहीं किया जाएगा, उसके आसपास की इमारतों का पुनर्विकास किया जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement