Connect with us

देश

Who Will Be PM? अगले पीएम को लेकर विपक्ष में खींचतान, राहुल, ममता और नीतीश के बाद अब सपा ने आगे किया अखिलेश का नाम

शुक्रवार को ही इस बारे में अखिलेश यादव से भी पत्रकारों ने सवाल पूछा था। उन्होंने खुद तो पीएम पद की रेस में नहीं बताया था, लेकिन ये जरूर कहा था कि देश के पीएम पद की कुर्सी का रास्ता यूपी से होकर ही जाता है। अब उनकी ही पार्टी के सांसद एसटी हसन का बयान साफ कर रहा है कि सपा किसी सूरत में पीएम पद का दावा छोड़ने वाली नहीं है।

Published

on

akhilesh yadav

मुरादाबाद। बिहार में नीतीश कुमार ने जैसे ही बीजेपी का दामन छोड़कर आरजेडी के साथ वापसी की, तभी से विपक्ष के खेमे में एक बार फिर नरेंद्र मोदी को पीएम पद से हटाने की उम्मीद एक बार फिर परवान चढ़ी, लेकिन उम्मीदों के इस परवान चढ़ने के बीच पीएम पद को लेकर विपक्ष में अभी से खींचतान शुरू हो गई है। पहले कहा जा रहा था कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी इस पद के योग्य हैं। फिर नीतीश कुमार का नाम भी चला। कांग्रेस के नेता राहुल गांधी को पहले से ही पीएम इन वेटिंग कहे जाते हैं, लेकिन अब एक और नेता का नाम भावी पीएम की रेस में जुड़ गया है।

जिस नेता का नाम अब पीएम पद की रेस में जुड़ा है, वो समाजवादी पार्टी यानी सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव हैं। उनके नाम को आगे बढ़ाया है यूपी के मुरादाबाद से सपा के सांसद एसटी हसन ने। हसन ने शुक्रवार को मुरादाबाद में कहा कि 2024 में लोकसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव भी पीएम पद का बड़ा चेहरा हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि पीएम तो वही बनेगा, जिसे सांसद चाहेंगे। अगर हमारे 70-80 सांसद जीते, तो हम अखिलेश जी को पीएम के तौर पर प्रोजेक्ट करेंगे। एसटी हसन ने कहा कि पीएम बनाने के लिए विपक्ष को एकराय होना होगा। यानी उन्होंने संकेतों में साफ कह दिया कि सपा अभी से राहुल, ममता या नीतीश को पीएम पद के लिए हरी झंडी कतई नहीं दे रही है।

akhilesh yadav

शुक्रवार को ही इस बारे में अखिलेश यादव से भी पत्रकारों ने सवाल पूछा था। उन्होंने खुद तो पीएम पद की रेस में नहीं बताया था, लेकिन ये जरूर कहा था कि देश के पीएम पद की कुर्सी का रास्ता यूपी से होकर ही जाता है। अखिलेश ने ये भी संकेतों में कहा था कि अगर अगले लोकसभा चुनाव के बाद विपक्ष के पीएम को लेकर मसला उठता है, तो सपा इसमें बड़ी भूमिका निभाएगी। अब उनकी ही पार्टी के सांसद एसटी हसन का बयान साफ कर रहा है कि सपा किसी सूरत में पीएम पद का दावा छोड़ने वाली नहीं है। ऐसे में राहुल गांधी, ममता और अब नीतीश की तरफ से चलाए जा रहे विपक्षी एकता के अभियान की राह में पीएम पद का रोड़ा अटकने के आसार भी अभी से दिखने लगे हैं।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement