Mann Ki Baat: ‘मन की बात’ के 95वें एपिसोड में PM मोदी ने की जी-20, विक्रम एस और कला-संस्कृति की बात, बोले- भारत को मिला है बड़ा मौका

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कई मुद्दों पर अपनी बात देश के सामने रखी। पहले तो उन्होंने खुशी जताई कि देश की 130 करोड़ जनता से जुड़ने का ये कार्यक्रम 95वां एपिसोड पूरे कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम तेजी से इस कार्यक्रम के शतक की तरफ बढ़ रहे हैं।

Avatar Written by: November 27, 2022 11:46 am
modi mann ki baat

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कई मुद्दों पर अपनी बात देश के सामने रखी। पहले तो उन्होंने खुशी जताई कि देश की 130 करोड़ जनता से जुड़ने का ये कार्यक्रम 95वां एपिसोड पूरे कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम तेजी से इस कार्यक्रम के शतक की तरफ बढ़ रहे हैं। मोदी ने कहा कि मुझे मन की बात के हर एपिसोड से पहले ढेर सारी चिट्ठियां आती हैं। बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के ऑडियो मैसेज मिलते हैं। जिससे मुझे आध्यात्मिक अनुभव मिलता है। उन्होंने तेलंगाना के एक बुनकर की तरफ से हैंडलूम पर बनाकर भेजे गए जी-20 के लोगो की तारीफ की। मोदी ने कहा कि जी-20 में दुनिया की कुल जनसंख्या का दो-तिहाई है। वैश्विक व्यापार में इस गुट का हिस्सा तीन-चौथाई का है और दुनिया की जीडीपी में जी-20 देशों की हिस्सेदारी 85 फीसदी है।

मोदी ने कहा कि तीन दिन बाद 1 दिसंबर 2022 से भारत इतने बड़े समूह का अध्यक्ष बनने जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये सामर्थ्य वाला समूह है। जी-20 की अध्यक्षता भारत के लिए बड़ा मौका बनकर आई है। इसे इस्तेमाल कर दुनिया के कल्याण पर ध्यान देना होगा। मोदी ने कहा कि शांति या एकता हो, पर्यावरण से संवेदनशीलता हो, विकास की बात हो तो भारत के पास इन सभी चुनौतियों का समाधान है। उन्होंने कहा कि हमने एक दुनिया, एक परिवार और एक भविष्य की थीम दी है। उससे हम अपने पुराने सूत्रवाक्य वसुधैव कुटुंबकम के प्रति प्रतिबद्धता दिखाते हैं। जी-20 के अनेक प्रोग्राम देश के अलग-अलग हिस्सों में होंगे। ऐसे में दुनियाभर के लोगों को आपके यहां आने का मौका मिलेगा। ये सभी भविष्य के टूरिस्ट भी होंगे।

पीएम मोदी ने देशी स्टार्टअप के विक्रम एस रॉकेट का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि इस रॉकेट के सफल प्रक्षेपण से देशवासियों का सिर गर्व से ऊंचा हुआ है।  भारत में नए युग का प्रतीक है। अब भारत में विमान बनाने का भी मौका मिल रहा है। मोदी ने कहा कि कला, संगीत और संस्कृति से लगाव ही मानवता की पहचान है। हम भारतीय हर चीज में संगीत तलाश लेते हैं। सभ्यता में संगीत समाया हुआ है। संगीत समाज को जोड़ता भी है।

Latest